44 दिन से न्याय के लिए धरने पर परिवार, कोई नही सुन रहा फरियाद

44 दिन से न्याय के लिए धरने पर परिवार, कोई नही सुन रहा फरियाद

By: Subhash

Published: 19 Mar 2021, 09:46 PM IST

सवाईमाधोपुर. जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन की राह ताकती आंखे, पति की मौत का दर्द, दो बच्चो के साथ न्याय के लिए संघर्ष करती महिला। कुछ ऐसा ही मामला जिला कलक्ट्रेट के मुख्य गेट से महज दस कदम की दूरी पर बना है, जहां कलक्ट्रेट की चौखट पर एक परिवार टैंट लगाकर न्याय के लिए धरने पर बैठा है। लेकिन उस परिवार की पीड़ा सुनने वाला कोई नहीं है।

हत्या के आरोपियों को गिरफ्तार करवाने के लिए पिछले 44 दिन से लहसोड़ा में मुन्नीदेवी जांगिड़ का परिवार कलक्ट्रेट के पास इन दिनों न्याय के लिए संघर्ष कर रहा है। स्थिति ये है कि जिला प्रशासन की चौखट पर बैठे इस परिवार की अब तक कोई सुनवाई नहीं हुई है। लहसोड़ा गांव में हरिशंकर की हत्या के बाद 2 फरवरी से पीडि़त परिवार न्याय के लिए लगातार संघर्ष कर रहा है।
प्रशासन के कानों तक नहीं पहुंची आवाज
अफसोस की बात यह है कि धरनास्थल से करीब 45 कदम दूर अपने चैंबर में बैठने वाले जिला कलक्टर व पुलिस अधीक्षक के कानों तक उनकी आवाज नहीं पहुंच रही है। इस परिवार ने भी ठान लिया है कि जब तक उन्हें न्याय नहीं मिलेगा, वे घर लौट कर जाने वाले नहीं हैं।
ऐसी हुई थी हत्या
लहसोड़ा गांव में कुछ लोगों ने पीडि़त परिवार की जमीन पर अतिक्रमण कर रखा था। इस मामले में मृतक व उसके परिवार ने गिरदावर रामभरोस कोली व पटवारी मौजीराम को कई बार अतिक्रमण हटवाने के लिए कहा लेकिन अतिक्रमण नहीं हटाया। इसके बाद गत 13 सितम्बर 2020 को रात को कुछ लोगों ने मारपीट कर हरिशंकर जांगिड़ की हत्या कर दी। इस बाद से पीडि़त परिवार धरने पर बैठा है। इसके बाद से पूरा परिवार सहमा हुआ है।
जारी रहेगा अनिश्चिकालीन धरना
कलक्ट्रेट के पास धरने पर बैठे पीडि़त परिवार का कहना है कि जब तक मृतक हरिशंकर के आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया जाता और गिरदावर रामभरोस कोली को निलंबित करने एवं पीडि़त परिवार को आर्थिक सहायता नहीं दी जाती है, तब तक अनिश्चिकालीन धरना जारी रहेगा।
पुलिस व प्रशासन से उठता जा रहा भरोसा
डेढ़ महीने से पीडि़त परिवार अनिश्चितकालीन धरने पर बैठा है। लेकिन आज तक इस कुनबे की पीड़ा सुनने का समय न तो जिला कलक्टर के पास है और न ही अन्य प्रशासनिक अफसरों के पास है। अब तो इस परिवार को प्रशासन पर से भरोसा उठता जा रहा है। देखना यह है कि आखिर डीएम की नींद कब खुलती है।
.....................
इनका कहना है
कलक्ट्रेट के पास धरने पर बैठे परिवार को पूर्व में आए मंत्री सहित अधिकारियों ने भी समझाइश की है। पीडि़त परिवार की शिकायत के बाद मामले में कुछ लोगों को गिरफ्तार किया है। अब उनकी कोई मांग नहीं है, वे अपनी मर्जी से ही धरने पर बैठे है।
राजेन्द्र किशन, जिला कलक्टर, सवाईमाधोपुर

Subhash Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned