अवैध हथियारों से हो रही फायरिंग, पर सौदागरों का नहीं कोई सुराग

Shrikant Sharma

Publish: Nov, 14 2017 05:46:58 (IST)

Sawai Madhopur, Rajasthan, India
अवैध हथियारों से हो रही फायरिंग, पर सौदागरों का नहीं कोई सुराग

सवाईमाधोपुर. जिले में कई बार हो चुकी अवैध हथियारों से फायरिंग की वारदातें

सवाईमाधोपुर. जिले में अवैध हथियारों से फायरिंग की वारदातें कई बार सामने आ चुकी है, लेकिन जिले में अवैध हथियारों की सप्लाई करने वाले बदमाशों तक पुलिस नहीं पहुंच पा रही है। ऐसे में जिले में धड़ल्ले से अवैध हथियार आसानी से पहुंच रहे हैं। अवैध रूप से हथियारों की सप्लाई का धंधा करने वाले बदमाश एजेंटों के जरिए जिले में बेखौफ हथियारों की आपूर्ति डिमांड अनुसार कर रहे हैं। इसमें देशी कट्टा, पिस्तौल सहित कई तरह के हथियार शामिल हैं, लेकिन पुलिस जिले में अवैध रूप से हथियारों की खेप पहुंचाने वाले बदमाशों के बारे में पता नहीं लगा पा रही है।

एमपी-यूपी से आते है हथियार: पुलिस सूत्रों ने बताया कि जिले में अवैध हथियार की सप्लाई जिले की सीमा से सटे मध्यप्रदेश व यूपी से हो रही है। आरोपित चम्बल नदी के रास्ते व अन्य चोर रास्तों से इस प्रकार का काम करते हैं। नाकाबंदी में वाहन जांच के दौरान की जा रही खानापूर्ति से अपराधियों के हौसले बुलंद है।

यह हो चुकी अब तक की वारदातें
क्षेत्र में पिछले कुछ सालों में आपराधिक वारदातें बढ़ी है। सूत्रों की माने तो क्षेत्र में फायरिंग की वारदात के बाद भी पुलिस आरोपितों की गिरफ्तारी तक ही सीमित रहती है। मानटाउन थाना क्षेत्र में 17 जनवरी को कलक्ट्रेट परिसर के बाहर चाय की दुकान पर, 27 अगस्त को रेलवे स्टेशन सर्किल के पास तथा 6 फरवरी को खैरदा में फायरिंग की घटना हो चुकी है। इससे पूर्व सीमेंट फैक्ट्री, कोतवाली थाना इलाके के रेलवे कॉलोनी आदि जगहों पर फायरिंग की घटना हुई है, लेकिन पुलिस ने इन मामलों में अवैध हथियार कहां से आ रहे हैं तथा उसके सरगना तक पहुंचने का प्रयास नहीं किया। गत माह में कलक्ट्रेट के बाहर भी अवैध हथियार से फायरिंग की घटना हो चुकी है। घटना के समय वहां अफरा-तफरी मच गई थी। हालांकि बाद में पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया था।


शराब के साथ हथियारों की तस्करी
क्षेत्र में शराब तस्करी के साथ-साथ हथियारों की खेप पहुंच रही है। सूत्रों की माने तो फायरिंग की वारदात को अंजाम देने वाले अधिकांश हथियार शराब तस्करी के साथ मंगाए जाते है। शराब तस्करी में लिप्त गैंग की ओर से इस तरह की वारदात को अंजाम देते है। शराब तस्करी व बजरी खनन को रोकने के लिए जब पुलिस की ओर से आरोपितों का पीछा किया जाता है तो वे पुलिस पर भी फायरिंग करने से नहीं चूकते है।

कार्रवाई करेंगे....
वैसे जिले में फायरिंग की घटना बहुत कम होती है। फिर भी जिले में अवैध रूप से हथियारों को पहुंचाने वाले बदमाशों पर शिकंजा कसा जाएगा। पुलिस का सूचना तंत्र मजबूत कर ऐसे गिरोह के बारे में जानकारी जुटाकर कार्रवाई करेंगे।
मामनसिंह, पुलिस अधीक्षक सवाईमाधोपुर।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned