कोहरे से लिपटा रहा शहर

कोहरे से लिपटा रहा शहर

By: Abhishek ojha

Published: 06 Jan 2020, 01:53 PM IST

सवाईमाधोपुर. जिलेभर में सर्दी के तीखे तेवर बने है। क्षेत्र के कई हिस्सों में रविवार सुबह दस बजे तक कोहरा छाया रहा। इससे जन-जीवन अस्त व्यस्त रहा। सड़क मार्गों, गली-मोहल्लों व अन्य स्थानों पर लोग ठिठुरते नजर आए। करीब दस बजे बाद कोहरा छटने से सूर्यदेव के दर्शन हुए। जिला मुख्यालय पर सुबह से कोहरा छाए रहने से सर्दी का असर तेज रहा। रविवार को अवकाश होने से लोग देर सुबह तक घरों में ही रहे। शाम को सर्दी का असर बढ़ गया। शहर में रविवार को अधिकतम तापमान 22 डिग्री सेल्सियस एवं न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

सूने नजर आए बाजार
सुबह कोहरे के चलते शहर के बाजार सूने नजर आए। करीब दस बजे बाद बाजार में भीड़भाड़ शुरू हुई, लेकिन शाम सात बजे बाद फिर से बाजार में सूनापन नजर आया। दुकानदार भी जल्द ही दुकानें बंद कर घर लौट गए। सर्दी बढऩे से लोग बाजार व घरों में गर्म वस्तुओं का सेवन कर रहे हैं। रविवार को भी चाय की थडिय़ों पर भीड़ रही। इसके अलावा शाम को मूंगफली, गजक आदि दुकानों पर खरीदारों की भीड़ रही। तेज सर्दी से बचने के लिए लोगों ने अलाव का सहारा लिया।

मलारना डूंगर. जिले में दो दिन राहत के बाद अब फिर से सर्दी का असर बढ़ गया है। गत दो दिनों से तापमापी के पारे में 4 डिग्री की बढ़ोतरी हुई थी, जो शनिवार को एक बार फिर नीचे आ गया। रविवार सुबह भी इसका असर नजर आया। सुबह से कोहरा छाया रहा और शीतलहर ने सभी को ठिठुरा दिया। ऐसी ही स्थिति ग्रामीण क्षेत्रों में भी देखने को मिली। क्षेत्रों में शीत लहर के साथ कोहरे के कारण जन जीवन प्रभावित हो रहा है। मलारना डूंगर में रविवार को भी दोपहर 12 बजे तक कोहरा छाया रहा। इससे वाहन चालकों को खासी परेशानी हुई। दोपहर बाद धूप तो खिली, लेकिन ठिठुरन से राहत नहीं मिल सकी। शीतलहर के चलते लोग दिन भर अलाव के सहारे सर्दी से राहत पाने की कोशिश करते नजर आए। रविवार को अवकाश होने से लोग भी सर्दी के चलते घरों में परिजनों के साथ दुबके नजर आए।

सर्दी ने ठिठुराया, अलाव बने सहारा
चौथ का बरवाड़ा. क्षेत्र में रविवार को सुबह घने कोहरे ने वाहन चालकों की मुसीबतें बढ़ाई तो सर्द हवाओं ने लोगों की धूजणी छुड़ा दी। ऐसे में किसी ने अलाव जलाकर राहत का जतन किया तो किसी ने हीटर चलाकर सर्दी से राहत पाई। रविवार सुबह घना कोहरा छाया रहा तथा दिन चढऩे के साथ कोहरा तो कम हुआ,लेकिन खेतों में दोपहर तक भी धुंध की चादर बिछी रही। इस दौरान सर्दी ने लोगों को खासा परेशान किया।

गेहंू में फायदा, सरसों में लगा रोग
उधर किसानों की माने तो कोहरे से गेहूं की फसलों के साथ फलदार पौधों में तो लाभ हो रहा है, लेकिन अब सरसों की फसल में सफेदा (धोल) रोग लगने लगा है। धूप नहीं खिलने से सरसों की फसलों में नुकसान से इनकार नहीं किया जा सकता। इसको लेकर किसान बहुत चिंतित हैं।

Abhishek ojha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned