गंगापुर में प्रस्तावों की स्वीकृति में अटकी प्यास

Shubham Mittal

Publish: Dec, 07 2017 05:19:34 (IST)

Sawai Madhopur, Rajasthan, India
गंगापुर में  प्रस्तावों की स्वीकृति में अटकी प्यास

पांच करोड़ के आपात योजना के हैं प्रस्ताव
शहरी-ग्रामीण क्षेत्र में 29 नलकूप, 85 हैण्डपम्प शामिल

गंगापुरसिटी. शहर और ग्रामीण क्षेत्र की पेयजल समस्या के समाधान की खातिर जलदाय विभाग की ओर से करीब तीन माह पहले राज्य सरकार को भेजे गए करीब पांच करोड़ रुपए की जल योजनाओं के प्रस्ताव अभी स्वीकृति के इंतजार में अटके हैं। इससे जल योजनाओं के निर्माण में देरी हो रही है।
विभागीय सूत्र बताते हैं कि समय रहते प्रस्तावों पर मुहर लगकर स्वीकृति मिल जाए तो शहर सहित ग्रामीण क्षेत्र में गहरा रहे पेयजल संकट से निजात मिल सकेगी। गौरतलब है कि इस बार कम बारिश के कारण गंगापुरसिटी शहरी क्षेत्र सहित ग्रामीण इलाकों में पेयजल संकट गहराया हुआ है। स्थिति यह है कि सर्दी के मौसम में भी पेयजल संकट उभर रहा है। भू-जल स्तर गिरने से विभाग के वर्तमान में कार्यरत नलकूपों से भी पानी का उत्पादन प्रभावित हो रहा है। यह वजह है कि गत दिनों विभाग को मौसम में भी टेंकरों से जलापूर्ति की तैयारी करनी पड़ रही है। टेंकरों से जलापूर्ति के लिए पिछले दिनों विभाग ने वित्तीय स्वीकृति के लिए मुख्य अभियंता को करीब 67 लाख रुपए के प्रस्ताव भी भिजवाए थे।


85 हैण्डपम्प और 29 नलकूप लगेंगे
जलदाय विभाग ने गंगापुरसिटी शहरी क्षेत्र, ग्रामीण क्षेत्र और बामनवास क्षेत्र के लिए करीब पांच करोड़ रुपए से अधिक के कन्टीजेंसी प्लान (आपात योजना) तैयार कर स्वीकृति के लिए प्रस्ताव भेजे। इनमें 85 हैण्डपम्प और 29 नलकूपों के प्रस्ताव शामिल हैं। विभागीय सूत्रों के अनुसार गंगापुरसिटी शहरी क्षेत्र के लिए 15 हैण्डपम्प, 10 नलकूप, ग्रामीण क्षेत्र के लिए 40 हैण्डपम्प और 9 नलकूपों के प्रस्ताव भिजवाए गए हैं। इसी प्रकार बामनवास क्षेत्र के लिए 30 हैण्डपम्प और 10 नलकूपों के प्रस्ताव हैं। इसके अलावा शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के लिए कुल करीब 31.7 किलोमीटर के लिए पाइप लाइन भी डाली जाएंगी। गौरतलब है कि बामनवास भी जलदाय विभाग गंगापुरसिटी के खण्ड के अन्तर्गत आता है। वर्तमान में गंगापुरसिटी शहरी क्षेत्र में विभाग के 48 नलकूप हैं, जबकि शहरी क्षेत्र में करीब ढाई सौ से अधिक हैण्डपम्प लगे हैं। इसी प्रकार ग्रामीण क्षेत्र में करीब 1800 हैण्डपम्प लगे हैं।


कहां कितनी राशि की दरकार
आपात योजना के अन्तर्गत विभाग ने गंगापुरसिटी शहरी क्षेत्र के लिए करीब 123 लाख रुपए की आवश्यकता जताते हुए प्रस्ताव भेजे हैं। वहीं ग्रामीण क्षेत्र के लिए करीब 208 लाख से अधिक के प्रस्ताव शामिल हैं। जबकि बामनवास क्षेत्र के लिए 177 लाख से अधिक की राशि के प्रस्ताव स्वीकृति के लिए राज्य सरकार को भेजे गए हैं। ये सभी प्रस्ताव अभी स्वीकृति के इंतजार में हैं।


...तो मिलती राहत
विभागीय सूत्र बताते हैं कि आपात योजना के प्रस्तावों से लेकर जल योजनाएं तैयार होने तक करीब तीन से चार माह का समय लग जाता है। इसमें प्रस्ताव तैयार करने, स्वीकृति होने, टेण्डर प्रक्रिया, कार्यादेश व योजना के निर्माण कार्य शामिल होते हैं। इस प्रकार तीन-चार माह का समय औसतन लग जाता है। सूत्र बताते हैं कि यदि आपात योजना के भेजे गए प्रस्तावों को जल्दी स्वीकृति मिल जाती तो इस बार सर्दी के मौसम में भी गहरा रहे पेयजल संकट से निजात मिल सकती, लेकिन अभी प्रस्तावों की स्वीकृति अटकी हुई है।


अभी नहीं मिली स्वीकृति
करीब तीन माह पहले आपात योजना के पांच करोड़ से अधिक के प्रस्ताव भेजे गए थे। अभी स्वीकृति नहीं मिली है।
राजीव सिंहल, अधिशासी अभियंता, जलदाय विभाग गंगापुरसिटी

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned