scriptसडक़ पर सड़ रहा कचरा, नगरपरिषद ने भी फेरा मुंह… | Patrika News
सवाई माधोपुर

सडक़ पर सड़ रहा कचरा, नगरपरिषद ने भी फेरा मुंह…

शहर में नहीं हो रहा कचरे का उठाव, बारिश के दौरान सडक़ों पर फैल रही गंदगी इनका कहना है…शहर में जहां सभी कचरे का नियमित रूप से उठाव नहीं हो रहा है, तो कर्मचारियों को पाबंद किया जाएगा। ऑटो टिपर को नियमित रूप से वार्डों में कचरे का उठाव करने के निर्देश दिए जाएंगे।फतेहसिंह मीणा, […]

सवाई माधोपुरJun 26, 2024 / 11:14 am

Subhash Mishra

सवाईमाधोपुर. बजरिया में राजकीय शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र मानटाउन के पास सार्वजनिक कुएं पर लगा कचरे का ढेर।

शहर में नहीं हो रहा कचरे का उठाव, बारिश के दौरान सडक़ों पर फैल रही गंदगी

  • बीमारियों का बना है अंदेशा, सडक़ मार्ग सहित कॉलोनियों में लगे है कचरे के ढेर
    सवाईमाधोपुर. बारिश ने दस्तक देना शुरू कर दिया है मगर नगरपरिषद की साफ-सफाई की कोई तैयारी नहीं है। स्थिति यह है कि बारिश बाद शहर में जगह-जगह गंदगी के ढेर लगे है और कचरा सड़ रहा है। सफाई को लेकर नगरपरिषद ने भी मुंह फेर लिया है। इससे आमजन को भारी परेशानी झेलनी पड़ रही है।
    जिला मुख्यालय पर इन दिनों शहर को स्वच्छ रखने के दावे करने वाली नगरपरिषद की पोल खुलती नजर आ रही है। बजरिया मानटाउन, आलनपुर, हाऊसिंग बोर्ड, पुराने शहर में जगह-जगह गंदगी के ढेर से सफाई व्यवस्था पूरी तरह से चौपट है। इससे ना केवल लोगों को परेशानी हो रही है बल्कि मच्छर पनपने से बीमारियों के फैलने का अंदेशा बना है। उधर, नगरपरिषद प्रशासन की अनदेखी से इन दिनों शहर से निकाला कचरा अब परिषद के कार्मिक आबादी क्षेत्रों में यहां-वहां ही डाल रहे है। इससे शहर की बेपटरी हो रही है।
    हर गली तक नहीं पहुंच रहे ऑटो टिपर
    इन दिनों जिला मुख्यालय पर सफाई व्यवस्था पूरी तरह से चौपट है। स्थिति ये है कि नगरपरिषद प्रशासन की अनदेखी से हर गली तक ऑटो टिपर नहीं पहुंच पा रहे है। वहीं ऑटो टिपर का समय भी निर्धारित नहीं है। वार्डों में मनमर्जी से ही ऑटो टिपर पहुंच रहे है। नियमित रूप से ऑटो टिपर नहीं पहुंचने से लोगों में रोष बना है।

  • 60 वार्डों के लिए 500 कार्मिको की जरूरत
    जिला मुख्यालय पर कहने को तो नगरपरिषद में कुल 225 स्थाई सफाई कर्मचारी लगे है। वहीं 60 संविदा पर सफार्ईकर्मी है लेकिन 15 वार्ड अतिरिक्त बढऩे से शहर में कुल 60 वार्ड हो गए है। ऐसे में कुल 500 सफाईकर्मियों की आवश्यकता है। इसके विपरीत अब तक स्थाई व अस्थाई तौर पर केवल 285 ही सफाई कर्मी कार्यरत है, जबकि 215 सफाईकर्मी का अभाव है।
    आबादी क्षेत्र में डाल रहे कचरा, बीमारी का अंदेशा
    नगरपरिषद की ओर से सूरवाल में डंपिग यार्ड बनाया हुआ है। इसके बावजूद परिषद के कर्मचारी कचरे से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉलियों को सब्जी मण्डी के पास तो कभी इन्द्रा मार्केट के पास सार्वजनिक कुएं के पास ही डाल रहे है। इससे थोड़ी से हवा चलने से कचरा इधर-उधर फैल रहा है। इससे लोगों में बीमारी फैलने का अंदेशा बना है। इस संबंध में लोगों ने जिला प्रशासन व नगरपरिषद आयुक्त से शिकायत की लेकिन कोई ध्यान नहीं दे रहे है। इधर-उधर कचरा फैलने से लोगों को भी परेशानी हो रही है।
    खाली प्लॉटों में भी गंदगी
    शहर में कई जगह कचरे के ढेर लगे है। इसके अलावा लोग खाली प्लाटो में भी कचरा डाल रहे है। बजरिया में राजनगर, केशव नगर, एमपी कॉलोनी, आलनपुर शहर सहित अन्य स्थानों पर प्लाटो में गंदगी व कचरे के ढेर लगे है। इससे मच्छर पनप रहे है और बीमारियों के फैलने की आशंका बनी है। वहीं कई कॉलोनियों में घरो के बाहर व रास्ते के बीचो-बीच गंदा पानी जमा रहता है। इससे वाहन चालकों व पैदल राहगीरों को भी आवाजाही में परेशानी होती है।
    फैक्ट फाइल…
    -जिला मुख्यालय पर कुल वार्ड-60
    -कुल ऑटो टिपर-23
    -मानटाउन व आलनपुर में ऑटो टिपर-17
    -पुराने शहर ऑटो टिपर-6
    -नगरपरिषद में कुल स्थाई सफाई कर्मचारी-224
    -कुल अस्थाई कर्मचारी-60
    -नगरपरिषद में कुल डंपर-2
    -ट्रैक्टर-ट्रॉली-8
    -सीवरेज की गाड़ी-2
इनका कहना है…
शहर में जहां सभी कचरे का नियमित रूप से उठाव नहीं हो रहा है, तो कर्मचारियों को पाबंद किया जाएगा। ऑटो टिपर को नियमित रूप से वार्डों में कचरे का उठाव करने के निर्देश दिए जाएंगे।
फतेहसिंह मीणा, आयुक्त, नगरपरिषद सवाईमाधोपुर

Hindi News/ Sawai Madhopur / सडक़ पर सड़ रहा कचरा, नगरपरिषद ने भी फेरा मुंह…

ट्रेंडिंग वीडियो