रेलवे को कंपनी बनाने की फिराक में सरकार

रेलवे को कंपनी बनाने की फिराक में सरकार
रेलवे को कंपनी बनाने की फिराक में सरकार

Rajeev Pachauri | Publish: Sep, 16 2019 08:22:12 PM (IST) Sawai Madhopur, Sawai Madhopur, Rajasthan, India

गंगापुरसिटी . ऑल इंडिया रेलवे मेंस फैडरेशन के आह्ववान पर सोमवार को वेस्ट सेंट्रल रेलवे एम्पलाइज यूनियन के तत्वावधान में केन्द्र सरकार की ओर से भारतीय रेल के निजीकरण एवं निगमीकरण करने के प्रयासों के विरोध में मनाए जा रहे चेतावनी सप्ताह के तहत पावर हाउस प्रांगण में बैठक हुई।

गंगापुरसिटी . ऑल इंडिया रेलवे मेंस फैडरेशन के आह्ववान पर सोमवार को वेस्ट सेंट्रल रेलवे एम्पलाइज यूनियन के तत्वावधान में केन्द्र सरकार की ओर से भारतीय रेल के निजीकरण एवं निगमीकरण करने के प्रयासों के विरोध में मनाए जा रहे चेतावनी सप्ताह के तहत पावर हाउस प्रांगण में बैठक हुई।


लोको शाखा अध्यक्ष श्रीप्रकाश शर्मा ने कहा कि भारतीय रेल की सभी उत्पादन इकाइयां अपने लक्ष्य से ज्यादा उत्पादन कर रही हैं। हमारे कल-कारखानों में बनाए गए इंजन एवं डिब्बे पूरे विश्व में उच्च मानक क्षमता और कम लागत के हैं। इसके बाद भी केन्द्र सरकार इनका निगमीकरण करना चाहती है। यात्री गाडिय़ों के संचालन को निजी हाथों में सौंपा जा रहा है और स्टेशनों को बेचा जा रहा है। यह न तो रेल कर्मचारियों के हित में है न आम जनता के। इससे भारतीय रेल बर्बाद हो जाएगी।

कैरिज शाखा अध्यक्ष गजानंद शर्मा ने कहा कि सरकार समस्याओं के निराकरण की बजाय रेलवे को बेचने की फिराक में है। हमें इसका एकजुट होकर विरोध करना है। इस अवसर पर शाखा के कार्यकारी अध्यक्ष शरीफ मोहम्मद, प्रेमराज मीणा, रोडनी फ्रेंकलीन, नवल किशोर, महेश सेन, विकास चतुर्वेदी, देवेंद्र गुर्जर, अनिल मीणा, रामखिलाड़ी, नवल किशोर, उदय सिंह गुर्जर, गणेश पाल मीणा आदि मौजूद रहे। मंडल उपाध्यक्ष नरेंद्र जैन ने बताया कि मंगलवार को रेल पथ निरीक्षक उत्तर कार्यालय में बैठक होगी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned