निगम पर बरस पड़ी मेहरबानी

निगम पर बरस पड़ी मेहरबानी

Rajeev Pachauri | Publish: Sep, 06 2018 05:42:19 PM (IST) | Updated: Sep, 06 2018 05:42:20 PM (IST) Gangapur City, Rajasthan, India

गंगापुरसिटी . भादौ में बरस रहे मेघ यूं तो हर किसी को राहत दे रहे हैं, लेकिन खासी मेहरबानी विद्युत निगम पर बरसती नजर आ रही है। सावन-भादौ में जमकर बरसे मेघों की बदौलत विद्युत निगम एक माह में १० लाख यूनिट बिजली बचाने में कामयाब रहा है। अच्छी बारिश के बाद अब गर्मी के तेवर तीखे नहीं हुए तो निगम इस साल खासी बिजली बचाने में सफल होगा।

गंगापुरसिटी . भादौ में बरस रहे मेघ यूं तो हर किसी को राहत दे रहे हैं, लेकिन खासी मेहरबानी विद्युत निगम पर बरसती नजर आ रही है। सावन-भादौ में जमकर बरसे मेघों की बदौलत विद्युत निगम एक माह में १० लाख यूनिट बिजली बचाने में कामयाब रहा है। अच्छी बारिश के बाद अब गर्मी के तेवर तीखे नहीं हुए तो निगम इस साल खासी बिजली बचाने में सफल होगा।


इस सीजन मई-जून माह में रही भीषण गर्मी के चलते बिजली आपूर्ति पूरी करने में निगम को पसीने छूट रहे थे। जून-जुलाई माह की बात करें तो शहर के उपभोक्ता हर माह १ करोड़ ४१ लाख यूनिट बिजली प्रतिमाह फूंक रहे थे। ऐसे में निगम जैसे-तैसे बिजली आपूर्ति कर पा रहा था, लेकिन अगस्त माह में सावन में अच्छी बारिश और फिर भादौ में जमकर बरस रहे मेघों ने निगम की चिंता दूर कर दी। अगस्त माह में बिजली खपत का यह आंकड़ा घटकर करीब १ करोड़ ३० लाख यूनिट रह गया है। ऐसे में मानसून की मेहरबानी के चलते निगम १० लाख यूनिट बिजली बचा सका है।


उमस बढ़ी तो बढ़ेगा लोड


विद्युत निगम का मानना है कि अच्छी बारिश के चलते एसी-कूलर करीब-करीब बंद हो गए हैं। वहीं पंखों की रफ्तार भी थम गई है। ऐसे में बिजली खपत में यकायक कमी आई है, लेकिन यदि बारिश के बाद खिली तीखी धूप के बाद उमस बढ़ती है तो यह लोड फिर से बढ़ेगा। हालांकि इस माह बची बिजली से निगम को खासी राहत मिली है।

इस मामले में सहायक अभियंता अ गंगापुरसिटी महेश सैनी का कहना है कि
इस सीजन में अच्छी बारिश हुई है। इससे बिजली खपत में कमी आई है। बारिश के चलते इस माह हम करीब १० लाख यूनिट बिजली बचाने में कामयाब रहे हैं। यदि उमस बढ़ी तो फिर से लोड बढ़ सकता है।


एक नजर में निगम (शहर)
कुल उपभोक्ता ३९५००
घरेलू उपभोक्ता ३३२३०
अघरेलू उपभोक्ता ५०७०
औद्योगिक ८८०
कृषि उपभोक्ता ४५०

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned