धड़ल्ले से चल रहा बजरी खनन व परिवहन

धड़ल्ले से चल रहा बजरी खनन व परिवहन

By: Subhash

Published: 28 May 2021, 10:04 PM IST

सवाईमाधोपुर. सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के बावजूद भी कोरोना काल जिले में बजरी परिवहन का कारोबार खूब फल-फूल रहा है। इसको रोकने को लेकर खनिज विभाग, पुलिस प्रशासन, जिला प्रशासन के अधिकारी भी खानापूर्ति कर रहे है। स्थिति ये है इन दिनों कोरोना महामारी के बावजूद भी बजरी माफियाओं धड़ल्ले से बजरी का परिवहन कर रहे है।
हादसो को न्योता दे रही ट्रैक्टर-ट्रॉलियां
शिवाड़ कस्बे के समीपवर्ती बनास नदी क्षेत्र से अवैध बजरी खनन का कार्य जोरों पर चल रहा है। इसके चलते इन दिनों ट्रैक्टर ट्रॉलिया बेलगाम दौड़ रही है। इस और पुलिस प्रशासन व अधिकारियों का कोई ध्यान नहीं है। ऐसे में आए दिन दुर्घटनाओं का अंदेशा बना रहता है। बनास नदी में रोजाना शाम को अवैध बजरी को लेकर ट्रैक्टर ट्रॉली, ट्रक, डंपर आदि जेबीसी व रॉडर से भरे जा रहे हैं। इस दौरान नदी में मेले सा माहौल बना रहता है। ट्रैक्टर ट्रॉलिया रात 9 से सुबह 6 बजे तक देवली, सारसोप, शिवाड़, महापुरा, जामडोली होते हुए बेरोकटोक जयपुर तक जा रही है। इस दौरान क्षेत्र से करीब पांच सौ ट्रैक्टर-ट्रॉलिया, ट्रक, डंपर गुजर रहे हैं।
बजरी के जमा है स्टॉक
शिवाड़-सारसोप एवं जामडोली सड़क पर कई जगह बजरी के अवैध स्टॉक बने है। इस मामे में पुलिस एवं प्रशासन आंखे मूंदे बैठे है। कस्बे में पुलिस चौकी के पास एक पेट्रोल पंप के सामने खेत पर किए गए बजरी के स्टॉक को प्रशासन दो साल बाद भी नहीं हटा पाया है। ग्रामीणों ने बताया कि इस स्टॉक से रोजाना दर्जनों ट्रैक्टर एवं बड़े डम्पर व ट्रोले बाहर भेजे जाते है।
दुपहिया का चालान, बजरी पर अनदेखी
इन दिनों कोरोना महामारी के चलते पुलिस रोजाना दुपहिया वाहन चालको के चालान काट रही है। ग्रामीण पहलाद पटेल, सत्यनारायण शर्मा, राहुल आदि ने बताया कि पुलिस की ओर से दुपिहया वाहनों के चालान किए जा रहे हैं। इस दौरान पुलिस की ओर से आमजन को परेशान किया जा रहा है। साथ ही अवैध बजरी की ट्रॉलिया बेरोकटोक गुजर रही है। इस और पुलिस का कोई ध्यान नहीं है।
आए दिन पलट रही ट्रॉलिया
ईसरदा से शिवाड महापुरा मार्ग पर सड़क निर्माण कार्य के चलते तेज गति से दौडऩे वाली ट्रैक्टर ट्रॉलिया आए दिन पलट रही है। इससे आवागमन बाधित हो रहा है। साथ ही दुर्घटनाओं का अंदेशा बना रहता है।
पुलिस चौकी के सामने से गुजरते है वाहन
बजरी के वाहन रोजाना रात को पुलिस की नाक के नीचे से निकल रहे हैं। मगर पुलिस आंखें मूंदे बैठी है। इस और पुलिस प्रशासन वह अधिकारियों का कोई ध्यान नहीं है। कार्रवाई के नाम पर पुलिस की ओर से एकाध ट्रैक्टर-ट्रॉलिया जब्त कर छोड़ दी जाती है।
पहले भी हो चुके हादसे
ट्रैक्टर ट्रॉलियो की रफ्तार काफी तेज होने से पहले भी कई हादसे हो चुके हैं। चालक तेज आवाज में टेप चलाते हैं। इससे उन्हें आगे पीछे का कुछ नहीं दिखता और दुर्घटनाएं हो जाती है। इस दौरान आए दिन बजरी के अवैध वाहनों से पालतू पशु भी चपेट में आ रहे हैं। ग्रामीणों ने पुलिस प्रशासन व अधिकारियों से अवैध बजरी के वाहनों पर कार्रवाई करने की मांग की है।

करेंगे सख्त कार्रवाई
खजिन विभाग में स्टॉफ की कमी से थोड़ी समस्या आ रही है। शिवाड़ क्षेत्र में बनास नदी से बजरी का अवैध खनन व परिवहन के लिए पुलिस की मदद लेकर सख्त कार्रवाई की जाएगी।
सूर्यनारायण, नायाब तहसीलदार, चौथकाबरवाड़ा

इनका कहना है
बनास नदी से अवैध बजरी खनन माफियाओ के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे। शिवाड़ चौकी प्रभारी को भी बजरी खननकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई के लिए पाबंद करेंगे।
मुकेश जैमन, थानाधिकारी, चौथकाबरवाड़ा

Subhash Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned