बजट बिन अटके हेल्थ वेलनेस केन्द्र!

बजट बिन अटके हेल्थ वेलनेस केन्द्र!

By: Subhash

Published: 26 Dec 2020, 07:15 PM IST

सवाईमाधोपुर.सरकार ने भले ही आयुर्वेद विभाग के अधीन जिले में 29 हेल्थ वेलनेस सेंटरों की कायापलट की घोषणा कर दी हो लेकिन यह घोषणा अभी तक कागजों में भी घूम रही है। बजट के अभाव में जिले मे प्रस्तावित एक भी हेल्थ वेयरेनस सेंटर बनकर तैयार नहीं हो सके है। ऐसे में ग्रामीण क्षेत्र में उपचार के दौरान भी रोगियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
दरअसल, सरकार की ओर से पूर्व में घोषणा के बाद जिले में प्रस्तावित हेल्थ वेलनेस सेंटर की स्थापना को लेकर आयुर्वेदिक विभाग कार्यालय से प्रस्ताव मांगे गए थे। ऐसे में आयुर्वेदिक विभाग कार्यालय उपनिदेशक की ओर से जिले में पहले 12 हेल्थ वेलनेस सेंटर निर्माण के लिए प्रस्ताव बनाकर भेजे गए थे। बाद में फिर से अतिरिक्त प्रस्ताव मांगे तो जिले से 17 अन्य जगहों से हेल्थ वेलनेस सेंटरों के निर्माण के प्रस्ताव बनाकर उच्चाधिकारियों को भेजा गया था। ऐसे में कुल 29 हेल्थ वेलनेस सेंटरोंं का निर्माण प्रस्तावित है, जो अब तक बजट के अभाव में अटके है।
जिले में 88 आयुर्वेद औषधालय
आयुर्वेदिक विभाग के अंतर्गत जिले में कुल 88 आयुर्वेद औषधालय संचालित है। इनमें से 29 औषधालयों को हेल्थ वेलनेस के रूप में विकसित करना प्रस्तावित है। ग्रामीणों को बेहतर उपचार की सुविधा उपलब्ध करवाने को लेकर सरकार ने इन्हें हेल्थ वेलनेस सेंटर के रूप में विकसित करने का निर्णय किया है।
यहां बनने है हेल्थ वेलनेस सेंटर
जिले में आयुर्वेदिक विभाग के अंतर्गत 12 हेल्थ वेलनेस सेंटरों का निर्माण होना है। इनमें बड़ीला, चकेरी, छाण, गंडाल, गोठड़ा, गोतोड़, खिलचीपुर, नीमोद करेल, पांवडेरा, फुलवाड़ा, सारसोप व टोकसी में निर्माण प्रस्तावित है।
प्राथमिक उपचार की नहीं सुविधा
जिले में कई दशकों से संचालित आयुर्वेदिक औषधालयों की स्थिति बदहाल है। निर्माण के बाद सरकार ने ज्यादा सुध नहीं ली। कई जीर्ण-शीर्ण व बदहाल है। इससे ग्रामीणों को गांव स्तर पर प्राथमिक उपचार की सुविधा तक नहीं मिलती। सामान्य बीमारियों के उपचार के लिए उन्हें कस्बे व शहरों तक लंबी दौड़ लगानी पड़ती है।
जिले में तीन विशिष्ट आयुर्वेदिक चिकित्सालय संचालित
जिले में 88 औषधालयों में से तीन विशिष्ट चिकित्सालय केन्द्र संचालित है। विशिष्ट चिकित्सा केन्द्रों में शिवाड़ में जरावस्था, गंगापुरसिटी में आंचल प्रसूता केन्द्र व जिला चिकित्सालय में पंचकर्म औषधालय शामिल है। इसके अलावा 85 आयुर्वेद औषधालय है।
.....................
इनका कहना है
जिले में 29 हेल्थ वेलनेस सेंटरों का निर्माण होना है। लेकिन बजट नहीं ओन से हेल्थ वेलनेस केन्द्रों का निर्माण कार्य शुरू नहीं हो सका है। बजट आते ही शीघ्र हेल्थ वेलनेस केन्द्रों का निर्माण कार्य शुरू कराया जाएगा।
इन्द्रमोहन शर्मा, उपनिदेशक, आयुर्वेदिक औषधालय, सवाईमाधोपुर

Subhash Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned