मौसम का मिजाज सेहत पर भारी

गंगापुरसिटी . मौसम के बदलते मिजाज ने लोगों की परेशानी बढ़ा दी है। गत दिनों की बारिश के बाद वातावरण में नमी आने से तापमान में गिरावट आई थी। वहीं पिछले दो-तीन दिन से धूप में तेजी के चलते वापस पारा चढ़ गया है। पारे के उतार-चढ़ाव एवं पानी के बदलाव के चलते लोग बीमारियों का शिकार हो रहे हैं।

By: Rajeev

Published: 12 Jul 2019, 09:05 PM IST

गंगापुरसिटी . मौसम के बदलते मिजाज ने लोगों की परेशानी बढ़ा दी है। गत दिनों की बारिश के बाद वातावरण में नमी आने से तापमान में गिरावट आई थी। वहीं पिछले दो-तीन दिन से धूप में तेजी के चलते वापस पारा चढ़ गया है। पारे के उतार-चढ़ाव एवं पानी के बदलाव के चलते लोग बीमारियों का शिकार हो रहे हैं।


शहर के सामान्य चिकित्सालय की ओपीडी से लेकर दवाई वितरण केन्द्र एवं जांच केन्द्र पर मौसम जनित बीमारियों के मरीजों की कतार लगी हुई है। इन दिनों ओपीडी रोजाना करीब १३ सौ के पास चल रही है। मौसम का बदलाव खासकर बच्चों एवं बुजुर्गों पर भारी पड़ रहा है। चिकित्सकों का कहना है कि वातावरण मेंं आई नमी बैक्टीरिया व वायरस पनपने में सहायक होती है। इसके चलते हैजा, टायफाइड, सर्दी-जुकाम, हैजा, डायरिया, फ्लू एवं वायरल आदि बीमारियां लोगों को जकड़ रही है।


खान-पान का रखें ध्यान


चिकित्सकों का कहना है कि तापमान में उतार-चढ़ाव के दौरान खान-पान एवं रहन-सहन में सावधानी रखकर बीमार होने से बचा जा सकता है। छोटे बच्चों को रात को पूरे कपड़े पहनाने चाहिए। साथ ही हल्की चद्दर से ढंककर सुलाना, पानी उबाल कर पीना, हल्का एवं सुपाच्य भोजन करना, तली-भुनी एवं बाजार की खुली खाद्य सामग्री के सेवन से परहेज आदि चीजों का ध्यान रखकर बीमारियों से दूर रहा जा सकता है।


इनका कहना है
बारिश के बाद तापमान में उतार-चढ़ाव एवं अशुद्ध पानी के सेवन से लोग मौसम जनित बीमारियों की चपेट में आ रहे हैं। ऐसे में खान-पान का विशेष ध्यान रखकर ही बीमार होने से बचा जा सकता है। खासकर बच्चों एवं अस्थमा के मरीजों का विशेष ध्यान रखना चाहिए।
- डॉ. कपिल जायसवाल, एमडी मेडिसिन सामान्य चिकित्सालय गंगापुरसिटी।

Rajeev Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned