होटेलियर्स व ट्रेवल एजेंट हुए एकजुट

होटेलियर्स व ट्रेवल एजेंट हुए एकजुट

rakesh verma | Publish: Sep, 04 2018 11:20:25 AM (IST) Sawai Madhopur, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news

सवाईमाधोपुर. ई मित्र पर रणथम्भौर पार्क भ्रमण की करंट बुकिंग अभी शुरू भी नहीं हुई है उससे पहले ही उसका विरोध शुरू हो गया है। वन विभाग इसे 15 सितम्बर से शुरू करने की तैयारी में है। वन विभाग के इस निर्णय के विरोध में अब टे्रवल एजेंट, होटेलियर्स एकजुट हो गए हैं। सोमवार को इस संबंध में टे्रवल एजेंट व होटेलियर्स की बैठक रणथम्भौर रोड पर स्थित वन विभाग कार्यालय के पास एक होटल में हुई। बैठक में होटेलियर्स व ट्रेवल एजेंटों की समस्याओं पर चर्चा की गई और करंट बुकिं ग को ई मित्र पर शिफ्ट करने का विरोध करने का निर्णय किया गया। इस दौरान शशांक सारस्वत, भूपेन्द्र सिंह, राजेश गुर्जर, इजहार अहमद, जावेद खान आदि मौजूद थे।


होटेलियर्स व टे्रवल एजेंंटो का यह है तर्क
वन विभाग के निर्णय का विरोध कर रह होटेलियर्स व टे्रवल एजेंटों का तर्क है कि ई मित्र पर करंट बुकिंग को शिफ्ट करने से पर्यटकों को परेशानी होगी। सभी पर्यटकों को पार्क भ्रमण का टिकट नहीं मिल पाएगा और वह पार्क भ्रमण से वंचित रह जाएंगे।


रोजगार पर खड़ा होगा संकट
ई मित्र से बुकिंग शुरू होने के बाद रणथम्भौर में काम कर रहे ट्रेवल एजेंटों का रोजगार ठप हो जाएगा और लोग बेरोजगार हो जाएंगे। सवाईमाधोपुर में सीमेंट फैक्ट्री बंद होने के बाद पर्यटन उद्योग से ही सवाईमाधोपुर जिले की पहचान है, लेकिन इस फैसले से फिर से सैकड़ों लोगों पर बेरोजगारी का संकट पैदा हो जाएगा।


आज सौंपेंगे ज्ञापन
टे्रवल एजेंटों व होटेलियर्स ने बताया कि इस संबंध में मंगलवार को उपवन संरक्षक व सीसीएफ को ज्ञापन सौंपा जाएगा। होटेलियर्स व टे्रवल एजेंटों ने निर्णय वापस नहीं लेने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।


रिफंड प्रक्रिया में भी किया बदलाव
वन विभाग की ओर से रिफंड प्रक्रिया में भी बदलाव किया गया है। अब नई व्यवस्था के तहत पर्यटक को बुकिंग से तीन माह तक कैंसिंल कराने पर पर्यटक को टिकट शुल्क का 75 प्रतिशत, 180 दिन बाद कैंसिल कराने पर 50 प्रतिशत, 270 दिन बाद कैंसिल कराने पर 25 प्रतिशत व 270 दिनों के बाद कैंसल कराने पर राशि रिफंड नहीं की जाएगी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned