फिर कैसे चमकेगा शहर, सफाई भगवान भरोसे

फिर कैसे चमकेगा शहर, सफाई भगवान भरोसे

By: Subhash

Published: 28 Oct 2020, 10:14 PM IST

सवाईमाधोपुर. दिवाली का त्योहार नजदीक है लेकिन अब तक नगरपरिषद प्रशासन ने साफ-सफाई को लेकर कोई इंतजाम नहीं किए है। वहीं अब तक सफाई के लिए किसी को ठेका दिया है।
दरअसल, नगरपरिषद क्षेत्र में अब 60 वार्ड हो गए है। ऐसे में दिवाली को लेकर शहर की साफ-सफाई के लिए अतिरिक्त कर्मचारियों की आवश्कता रहती है लेकिन अब तक परिषद नगरपरिषद ने इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया है। ऐसे में इन दिनों शहर में गली-मोहल्लो में गंदगी के ढेर देखे जा सकते है। विशेषतौर पर ठींगला, जटवाड़ा, शहर विनोबा बस्ती, अंसारी मोहल्ला, कागजी मोहल्ला, नीम चौकी के वार्ड सफाई नहीं होने वार्ड में गंदगी के ढेर लगे है।
पिछले दो साल से नहीं ले रहे ठेके पर
जानकारी के अनुसार नगरपरिषद प्रशासन पिछले दो साल से दीपावली त्योहार को लेकर सफाई का ठेका नहीं दे रहे है। ऐसे में परिषद के स्थाई कार्मिकों से ही काम चलाया जा रहा है,जबकि दो साल पहले तक हर साल दिवाली से पूर्व शहर में सफाई को लेकर ठेका दिया जाता था और करीब 90 से 100 कर्मचारियों को लगाया जाता था। लेकिन इस बार वार्ड बढऩे के बावजूद भी अतिरिक्त सफाई कर्मियों को नहीं लगाया है।
सेवानिवृत्त होने से घट रहे सफाईकर्मी
जानकारी के अनुसार नगरपरिषद क्षेत्र में वर्तमान में वार्डों की सफाई के लिए 175 स्थाई सफाईकर्मी कार्यरत है। इनमें से दो कर्मचारी अगले महीने में सेवानिवृत्त होने वाले है। वहीं दो सफाईकर्मी पिछले माह सेवानिवृत्त हो गए थे। ऐसे में सफाईकर्मियों की संख्या भी धीरे-धीरे घटती जा रही है। सफाईर्मी, जमादार, कचरा उठाने वाले, ट्रैक्टर चालक मिलाकर साफ-सफाई के लिए 215 कर्मचारी है।

इनका कहना
अतिरिक्त कर्मचारियों को नहीं लगाया जाएगा। नगरपरिषद के स्थाई कार्मिकों से ही दिवाली से पांच दिन पहले अभियान चलाकर शहर में सफाई कराई जाएगी।
रविन्द्रसिंह यादव, आयुक्त, नगरपरिषद सवाईमाधोपुर

Subhash Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned