चराई कराई तो खैर नहीं, वन क्षेत्र में लगी हुई है धारा 144

चराई कराई तो खैर नहीं, वन क्षेत्र में लगी हुई है धारा 144
सवाईमाधोपुर के रणथम्भौर की फलौदी रेंज में वन विभाग का अवैध चराई नियंत्रण गश्ती दल।

Rakesh Verma | Updated: 14 Jul 2019, 12:51:10 PM (IST) Sawai Madhopur, Sawai Madhopur, Rajasthan, India

चराई कराई तो खैर नहीं, वन क्षेत्र में लगी हुई है धारा 144

सवाईमाधोपुर. रणथम्भौर राष्ट्रीय उद्यान में वर्षा काल के दौरान अवैध चराई पर लगाम लगाने के लिए वन विभाग ने कमर कस ली है। विभाग की ओर से रणथम्भौर राष्ट्रीय उद्यान में एक जुलाई से जिला प्रशासन की ओर से अवैध चराई की रोकथाम के लिए धारा 144 लागू कर दी गई थी। इसके बाद से ही वन विभाग की ओर से रणथम्भौर वन क्षेत्र में अवैध चराई के नियंत्रण के लिए विभिन्न दलों का गठन करके कार्रवाई की जा रही है।


15 दल किए गठित
वन विभाग द्वारा इसके लिए कुल 15 विशेष गश्ती दलों का गठन किया गया है। विभाग की ओर से रणथम्भौर राष्ट्रीय उद्यान की कुल छह रेंज में से प्रत्येक रेंज में दो गश्ती दल गठित किए गए हैं। मॉनिटरिंग के लिए तीन फ्लाइंग स्क्वाइड भी गठित किए गए हैं। ये दल अवैध चराई रोकथाम की कार्रवाई करेगा।

 

15 हजार का लगाया जुर्माना
विभाग की ओर से गश्त के दौरान शुक्रवार को आरोपीटी रेंज में जोन पांच में खवा गांव के ग्रामीणों को रणथम्भौर राष्ट्रीय उद्यान के प्रतिबंधित क्षेत्र में मवेशियों को अवैध चराई कराते पकड़ा था। विभाग की ओर से कार्रवाई करते हुए ग्रामीणों पर 15 हजार का जुर्माना लगाया गया है। इसी प्रकार शनिवार को फलौदी रेंज में गश्त की गई, लेकिन विभाग को कोई भी चराई कराता नहीं मिला।


दो माह तक अभियान
वन विभाग की ओर से अवैध चराई की रोकथाम के लिए एक जुलाई से अवैध चराई नियंत्रण अभियान का आगाज किया गया था। इसके तहत वन क्षेत्र में नियमित गश्त की जा रही है। वनाधिकारियों ने बताया कि यह अभियान दो माह तक जारी रहेगा।


रणथम्भौर में अवैध चराई के नियंत्रण के लिए नियमित रूप से गश्त की जा रही है और अवैध चराई कराते पाए जाने पर जुर्माना लगाया जा रहा है।
अरविंद झा, एसीएफ, रणथम्भौर बाघ परियोजना, सवाईमाधोपुर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned