उपनिदेशक से करेंगे पूछताछ

Shubham Mittal

Publish: Jan, 14 2018 09:57:20 PM (IST)

Sawai Madhopur, Rajasthan, India
उपनिदेशक से करेंगे पूछताछ

उपनिदेशक से करेंगे पूछताछ

आगामी सोमवार को एसीबी कार्यालय में किया तलब

सवाईमाधोपुर. आंगनबाड़ी केन्द्रों में हाल में खरीदे गए फर्नीचर की जांच के बाद आगामी सोमवार से महिला एवं बाल विकास विभाग के उपनिदेशक सहित अन्य अधिकारियों व कर्मचारियों से पूछताछ की जाएगी।

इसके लिए उपनिदेशक सहित अन्य कर्मचारियों को एसीबी कार्यालय में तलब किया गया है। एसीबी ब्यूरो के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सहीराम विश्नोई ने बताया कि सवाईमाधोपुर शहर व गंगापुरसिटी शहरी व ग्रामीण में आदर्श आंगनबाड़ी केन्द्रों पर गत शुक्रवार को फर्नीचर की जांच की गई थी।

इस दौरान वजन, नाप-जोख, गेज आदि में अनियमितताएं मिली। आगामी कार्यदिवस से संबंधित अधिकारियों से पूछताछ की जाएगी। इसके बाद रिपोर्ट तैयार कर जयपुर मुख्यालय को भेजी जाएगी।
यह था मामला
प्रदेशभर में आदर्श आंगनबाड़ी केन्द्रों को कुर्सी-फर्नीचर एवं संसाधनों से लैस कर मिनी नर्सरी में बदलने की योजना थी। इसके लिए महिला एवं बाल विकास विभाग के जयपुर स्थित मुख्यालय से स्थानीय फर्म से फर्नीचर खरीद कर विभिन्न आंगनबाड़ी केन्द्रों में भेजा गया था।

खरीद में घालमेल सामने आने के बाद एसीबी ने कंपनी एवं महिला बाल विकास विभाग के अधिकारियों के खरीद तय किए जाने की भूमिका की जांच शुरू की है। जांच के दायरे में ३३ जिलों के आदर्श आंगनबाड़ी केन्द्रों से जुड़े अधिकारियों को भी शामिल किया गया है।

इसलिए पड़ी जांच की जरूरत
सामानों के आपूर्ति होने के बाद संबंधित सीडीओ एवं सेक्टर प्रभारियों के प्राप्तकर्ता के नाम पर हस्ताक्षर होने थे। सामान लिए जाने के बाद सब कुछ दुरुस्त होने की स्थिति में संबंधित सीडीपीओ एवं जिले के प्रभारी अधिकारियों की लिखित सहमति के बाद ही सामानों को केन्द्रों में रखा जाना था। ऐसे में जहां गड़बड़ी की शिकायत मिली, वहां से सूचना मुख्यालय को भेजनी थी। जांच के दौरान एसीबी टीम को सभी फर्नीचर कार्यालय पर ही पाए गए।

ऐसे हुआ खुलासा
जानकारी के अनुसार दौसा के एक केन्द्र में फर्म से आए सामानों की जांच में फर्नीचर में अलमारी, स्टील की कुर्सियां, स्टील टेबल आदि में वजन कम पाया गया। इसके बाद ही इसकी जानकारी मुख्यालय को दी गई। इस दौरान किसी ने इस पूरे घटनाक्रम की एसीबी में शिकायत की।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned