अभी एक साल और करना होगा इंतजार

गंगापुरसिटी . चम्बल के पानी से कंठ तर करने के लिए शहरवासियों को अभी एक साल और इंतजार करना होगा। अमृत जल योजना के तहत शहर में टंकी बनाने और पाइप लाइन डालने की कवायद दिसम्बर 2019 तक पूरा होने का अनुमान है। ऐसे में इस बार की गर्मियों में शहर को चम्बल का पानी नसीब नहीं होगा। उम्मीद जताई जा रही है कि अगली गर्मियों के मौसम में शहर को चम्बल का पानी मिल सकेगा।

By: Rajeev

Published: 03 Mar 2019, 01:04 PM IST

गंगापुरसिटी . चम्बल के पानी से कंठ तर करने के लिए शहरवासियों को अभी एक साल और इंतजार करना होगा। अमृत जल योजना के तहत शहर में टंकी बनाने और पाइप लाइन डालने की कवायद दिसम्बर 2019 तक पूरा होने का अनुमान है। ऐसे में इस बार की गर्मियों में शहर को चम्बल का पानी नसीब नहीं होगा। उम्मीद जताई जा रही है कि अगली गर्मियों के मौसम में शहर को चम्बल का पानी मिल सकेगा।


शहर में इस योजना के तहत पाइप लाइन डालने का काम तीव्र गति से हो रहा है। इसमें टंकी बनाने और लाइन डालने का काम शामिल है। दोनों काम दु्रत गति से होते दिख रहे हैं। जलदाय विभाग का मानना है कि यह काम इस साल दिसम्बर तक पूरा हो जाएगा। इसके बाद यहां पहुंचने वाले चम्बल जल से सीडब्ल्यूआर और टंकियों को भरने काम शुरू होगा। लाइनों की टेस्टिंग के बाद पेयजल सप्लाई का काम शुरू कर दिया जाएगा। चम्बल जल योजना के तहत करौली के मंडरायल से गंगापुरसिटी तक पानी लाने का काम होगा। वहीं अमृत जल योजना के तहत शहर में सीडब्ल्यूआर एवं टंकियों का निर्माण कराकर शहर की आबादी को पानी उपलब्ध करना होगा।


7 टंकियों का हो रहा निर्माण


अमृत जल योजना के तहत शहर में सात टंकियों का निर्माण कराया जा रहा है। इसके अलावा जमीन पर पानी इकट्ठा करने के लिहाज से दो सीडब्ल्यूआर भी बन रहे हैं। इनमें चम्बल नदी का पानी एकत्रित किया जाएगा। इससे टंकियों में पानी चढ़ाकर पाइप लाइन के जरिए शहर के विभिन्न हिस्सों में पानी सप्लाई किया जाएगा, जिससे शहर में पेयजल समस्या दूर होगी।


60 करोड़ हो रहे खर्च


जलदाय विभाग के मुताबिक अमृत जल योजना के तहत शहर को पानी उपलब्ध कराने के लिए सरकार की ओर से करीब 60 करोड़ रुपए खर्च किए जा रहे हैं। हालांकि यह राशि पहले 60 करोड़ से ज्यादा अनुमानित थी। बाद में इसे घटाकर करीब 60 करोड़ रुपए किया गया है। यह राशि शहर में पेयजल लाइन डालने, सीडब्ल्यूआर एवं टंकियां बनाने के लिए खर्च की जा रही है।


रहती है खासी किल्लत


शहर में लंबे समय से पानी की किल्लत बरकरार है। लोगों को गर्मियों के मौसम में बूंद-बूंद पानी के लिए तरसना पड़ता है। शहर में काफी समय से चम्बल का पानी लाने की मांग उठ रही थी। इस मांग के तहत करौली के मंडरायल से गुजर रही चम्बल नदी से यहां तक पानी पहुंचाया गया है। बताया जा रहा है कि पानी पहुंचने की टेस्टिंग भी हो चुकी है। अगले साल शहर को इसका पानी मिलने लगेगा।


इनका कहना है
शहर में अमृत जल योजना का काम तेजी से चल रहा है। इस योजना से शहर की पूरी आबादी को चम्बल का पानी उपलब्ध कराया जाएगा। शहर में 7 टंकियों के साथ दो सीडब्ल्यूआर का भी निर्माण हो रहा है। अनुमान है कि यह काम दिसम्बर 2019 तक पूरा हो जाएगा।
- डी.एल. सैनी, सहायक अभियंता जलदाय विभाग गंगापुरसिटी

Rajeev Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned