बांध की पाळ में रिसाव, फिर भी नहीं चेता विभाग

www.patrika.com/rajasthan-news

By: rakesh verma

Published: 23 Jul 2018, 02:09 PM IST

सवाईमाधोपुर. जिले में बारिश का दौर जारी है। इसके बाद भी अजीतपुरा बांध की क्षतिग्रस्त दीवार व पाळ को दुरस्त करने के लिए अधिकारी नहीं चेते है। इससे लगातार अजीतपुरा गांव पर संकट मंडरा रहा है। लेकिन जल संसाधन विभाग के अधिकारियों ने रविवार को मौका तक नहीं देखा। जिला प्रशासन की ओर से भी कार्रवाई नहीं की गई। इससे ग्रामीणों में रोष है।


पाळ व मोरी में रिसाव
लहसोड़ामें शनिवार शाम व रविवार को हुई बारिश से अजीतपुरा बांध में पानी की आवक लगातार बढ़ रही है। ग्रामीण श्योजी गुर्जर, रंगी मीणा ने बताया कि बांध की मुख्य पाळ व मोरी से पानी का बहुत अधिक रिसाव हो रहा है।


करते हैं रतजगा
ग्रामीणों का कहना है कि दीवार से पानी रिसाव होने से उन्हें खतरे की आशंका रहती है। ऐसे में भय के मारे में रतजगा करने को मजबूर हैं। उधर, इस संबंध में सिंचाई विभाग के सहायक अभियंता सुरेश भूपरिया का कहना है कि खतरे की कोई बात नहीं है। मोरी की दीवार में दरार आई है। सोमवार को वस्तुस्थिति का पता कर समस्या का समाधान करेंगे।


सूरवाल बांध में बढ़ी पानी की आवक
सूरवाल. बारिश के चलते अब बांधों में पानी की आवक होने लगी है। जिले के 15 फीट भराव क्षमता वाले सूरवाल बांध में रविवार को 9 फीट 5 इंच पानी मापा गया। क्षेत्र के पचास से अधिक गांवों के किसानों को इस बांध से लिंक नहरों द्वारा नवंबर-दिसंबर माह में खरीफ की फसल के लिए सिंचाई का पानी मिलता है।सिंचाई विभाग के सहायक अभियंता सुरेश भोपरिया ने बताया कि रोजाना बांध के भराव की रिपोर्ट ली जा रही है!

सुरक्षा और सतर्कता के लिए यहां आठ-आठ घंटे कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। थानाधिकारी ने किया दौरा बनास और गंभीर नदी के किनारे बसे कई गांवों में सुरक्षा को लेकर रविवार को सूरवाल थानाधिकारी ने पुलिसकर्मियों के साथ दौरा किया। इस दौरान थानाधिकारी भंवरसिंह ने लोगों को समझाया कि नदी-नालों के आसपास कोई नहीं जाएं।



rakesh verma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned