थानों में ताले में बंद स्वागत कक्ष, खुले में बैठने को मजबूर फरियादी

थानों में ताले में बंद स्वागत कक्ष, खुले में बैठने को मजबूर फरियादी

By: Subhash

Published: 26 Feb 2021, 09:29 PM IST

सवाईमाधोपुर. सरकार ने भले ही प्रदेश के थानो में फरियादियो की फरियाद सुनने के लिए स्वागत कक्ष निर्माण की घोषणा कर दी हो लेकिन जिले मे हालात इसके उलट है। जिले में सात थानों में स्वागत कक्ष बनकर तैयार है लेकिन इन दिनों सभी ताले में बंद है। ऐसे में थानों में आने वाले फरियादी खुले में बैठने को मजबूर है, जबकि लाखों की राशि से निर्मित कक्ष बेकार पड़े है।
दरअसल, राज्य सरकार ने पुलिस थानों को पब्लिक फ्रेण्डली बनाने के उद््देश्य से जिले के सात थानों में स्वागत कक्ष का निर्माण कराया है। प्रत्येक स्वागत कक्ष की लागत साढ़े सात लाख रुपए है।
जिले मे संचालित है कुल 17 थाने
जिला पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार अब तक केवल 7 थानों में स्वागत कक्ष तैयार हो गए है,जबकि अभी तक 10 थाने शेष है, जिनमें स्वागत कक्ष तैयार होना है। खण्डार व बहरावण्डा कलां में स्वागत कक्ष नहीं है, जबकि चौथकाबरवाड़ा में चौथमाता ट्रस्ट के तत्वावधान में थाने में स्वागत कक्ष का निर्माण कार्य कराया जा रहा है।
इनके सहयोग से भी बनने थे स्वागत कक्ष
जिले में स्वागत कक्ष बनाने के लिए विधायक स्थानीय क्षेत्र विकास कोष, जनसहभागिता, नगरपालिका, पंचायतीराज संस्थाओं, स्टेट प्लान, जिला कलक्टर, नगर विकास न्यास आदि से स्वीकृत किए जाएंगे। स्वागत कक्ष में फरियादियों के बैठने के लिए तीन सीटर की चार बैंच के साथ दो सेंटर टेबल लगाने की व्यवस्था रहेगी।
जिला मुख्यालय पर भी बदतर हालात
जिला मुख्यालय पर बजरिया में मानटाउन थाना व शहरी क्षेत्र में कोतवाली थाने में फरियादियों के लिए स्वागत कक्ष तैयार हो गए है। रंग-रोगन, दरवाजे भी लग चुके है। लेकिन अभी तक उनको चालू नहीं किया गया है। ऐसे में निर्माण के बाद से स्वागत कक्ष पर ताला लगा है।
खुले में बैठने को मज *****
जिले के थानों में लाखों रुपए की लागत से स्वागत कक्ष तो बना दिए लेकिन वे फरियादियों के कोई काम नहीं आ रहे है। स्थिति ये है कि थानों में जाने वाले फरियादियों को बैठने के लिए जगह तक नहीं मिलती है। ऐसे में फरियादी रिपोर्ट दर्ज होने या अधिकारियों के इंतजार में थानों में खड़े नजर आते है या इधर-उधर ही भटकते दिखाई देते है। थानों में बैठने की जगह नहीं मिलती है। ऐसे में सदी, गर्मी और बरसात में खुले में बैठने को मजबूर है। खासतौर से ग्रामीण क्षेत्रों में फरियादियों को सुनने में पुलिसकर्मियों को भी परेशानी का सामना करना पड़ता है।
.....................
इनका कहना है
जिले में कुछ थानों में स्वागत कक्ष तैयार हो गए है, कई थानों में निर्माण कार्य चल रहा है। ऐसे में जल्द ही सभी स्वागत कक्ष को तैयार कर चालू करवाए जाएंगे।
सुधीर चौधरी, पुलिस अधीक्षक, सवाईमाधोपुर

Subhash Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned