मनुष्य का जन्म ईश्वर प्राप्ति के लिए

गंगापुरसिटी . शहर के निकटवर्ती गांव बाढ़ मिलकपुर में चल रही श्रीमद् भागवत कथा में शनिवार को कथा वाचक पंडित कैलाशचंद शास्त्री ने ईश्वर की महिमा का गुणगान किया।

गंगापुरसिटी . शहर के निकटवर्ती गांव बाढ़ मिलकपुर में चल रही श्रीमद् भागवत कथा में शनिवार को कथा वाचक पंडित कैलाशचंद शास्त्री ने ईश्वर की महिमा का गुणगान किया।


शास्त्री ने कहा कि ईश्वर का स्मरण करने से मन, चित्त एवं प्रकृति में दया भाव समाहित हो जाता है। भागवत सुनने एवं पाठ करने से कपिला गाय के दान के बराबर पुण्य प्राप्त होता है। शास्त्री ने कहा कि जिस घर में भागवत कथा एवं सत्संग होता है, वहां सदैव भगवान लक्ष्मी के साथ निवास करते हैं। आचार्य ने कहा कि अच्छी संगत, अच्छा भोजन, अच्छे विचार और अच्छी सोच समय पर मीठा ही फल देते हैं।

मनुष्य योनि पाकर अच्छे लोगों के साथ और बिना परमात्मा के सत्संग बिना विवेक की प्राप्ति नहीं हो सकती। श्रीमद् भागवत में भगवान ने उद्धव से कहा कि हे उद्धव जो अनन्य भक्त देवताओं को पूजते हैं, वे ही मुझको पूजते हैं, क्योंकि समस्त यज्ञों का भोक्ता और स्वामी भी परमात्मा ही है। कथा विद्याप्रकाश गुर्जर के यहां चल रही है।


कृष्ण जन्म की कथा सुन श्रोता हुए भावविभोर


खेड़ा गांव मेें आयोजित भागवत कथा में शनिवार को कथा वाचक पंडित शिवजीलाल शर्मा ने कृष्ण जन्म की कथा सुनाई। कथा व्यास ने कहा कि ने आकाशवाणी के बाद भयभीत होकर कंस ने अपनी बहन देवकी व वसुदेव को जेल में डलवा दिया। कंस ने एक-एक कर देवकी सात संतानों का वध कर दिया।

आठवीं संतान के रूप में भगवान कृष्ण ने चतुर्भुज रूप में जन्म लिया। प्रभु कृपा से उस समय सभी द्वारपाल सो गए और जेल के दरवाजे खुल गए। वसुदेव इसके बाद भगवान कृष्ण को लेकर गोकुल रवाना हो गए और अपने मित्र नंद के यहां कृष्ण को पहुंचाकर मथुरा आ गए। उधर पुत्र जन्म पर नंद बाबा के यहां नंदोत्सव मनाया गया। इस दौरान ‘नंद के आनंद भयौ जय कन्हैया लाल की...’ की गूंज रही। इस दौरान पांडाल राधा-कृष्ण व वृृंदावन बिहारी लाल के जयकारों से गूंज उठा। इस दौरान गोपाल शर्मा, बली शर्मा, अशोक शर्मा, प्रदीप शर्मा, मोहनलाल, गोपाल लाल आदि मौजूद रहे।

Rajeev Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned