मनरेगा कार्यों में नहीं चलेगी मनमर्जी

मनरेगा कार्यों में नहीं चलेगी मनमर्जी

abhishek ojha | Publish: Sep, 10 2018 12:01:39 PM (IST) Sawai Madhopur, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news

सवाईमाधोपुर. प्रदेश में मनरेगा कार्यों में और अधिक पारदर्शिता लाने एवं भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिए नई कवायद शुरू करने की तैयारी है। मनरेगा में सरपंच अपनी मर्जी से कार्य नहीं करवा सकेंगे। ग्राम सभा में पारित प्रस्तावों में काम को वार्षिक योजना के साथ इ-सक्षम सॉफ्टवेयर पर भी अपलोड करना होगा। सॉफ्टवेयर किसी भी जिले व पंचायत में दोहरे काम या गड़बड़ी को नहीं होने देगा। इससे कार्य में पारदर्शिता आएगी। यह वर्ष 2019-2020 में लागू होगा।
राज्य में मनरेगा के तहत चल रहे कार्यों में भ्रष्टाचार को रोकने एवं पारर्शिता के लिए जीआइएस आधारित जियो मनरेगा योजना को लागू किया था। इसमें सुधार करते हुए इ-सक्षम लागू किया है। इसे तीन चरणों में लागू किया जाएगा। काम शुरू होने से पहले, आधा कार्य होने पर व कार्य पूर्ण होने पर जियो टैग किया जाएगा। अब इसको अधिक प्रभावी किया जा रहा है।


ऑनलाइन तैयार करेंगे तखमीना
केन्द्र मनरेगा कामों के तखमीना में एकरूपता लाने, प्रक्रिया तेज करने व निर्माण सामग्री की खरीद में गड़बड़ी की संभावना पर अंकुश के लिए यह साफ्टवेयर लागू किया है। अब कनिष्ठ अभियंता तखमीना ऑनलाइन तैयार करेंगे। कनिष्ठ अभियंता व अन्य अधिकारियों को इ-सक्षम संचालित करने के लिए यूजर आइडी व पासवर्ड दिए जाएंगे। इनसे वे कार्यों के तखमीना की प्रगति से अपडेट रहेंगे व क्रियान्विति के लिए तय जिम्मेदारी निभाएंगे। सॉफ्टवेयर से स्थानीय स्तर पर निर्माण सामग्री के लिए दरों पर ही तखमीने तैयार होंगे। इतना ही नहीं ग्राम सभा में प्रस्ताव लेकर कार्य योजना का विभिन्न स्तर पर अनुमोदन के बाद पंचायत वार ऑनलाइन डेटा एन्ट्री करनी होगी।


नक्शे लगाने होंगे साथ
वार्षिक कार्य योजना के बिन्दु तैयार किए है। व्यक्तिगत लाभ के कार्यों में निजी भूमि पर एनआरएम गतिविधियां, कृषि गतिविधियां एवं आजीविका शामिल होंगे। एनआरएम कार्यों में सिंचाई योजना से जुड़े श्रम सामग्री का 60-40 प्रतिशत में अनुपात करना होगा। वहां के नौ तरह के नक्शे लगाने होंगे।


मनरेगा कार्य में पारदर्शिता लाने के लिए योजना की तैयारी चल रही है। वार्षिक कार्य योजना इ-सक्षम के आधार पर बनेगी। यह नवाचार अगले साल से लागू हो जाएगा।
डॉ.सरोज बैरवा, विकास अधिकारी, सवाईमाधोपुर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned