देर रात गांवों में दौड़ा चिकित्सा दल

देर रात गांवों में दौड़ा चिकित्सा दल

Vijay Kumar Joliya | Publish: Sep, 16 2018 01:56:26 PM (IST) Sawai Madhopur, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news

सवाईमाधोपुर. खण्डार क्षेत्र के गण्डावर व बोहना गांव में फैल रही अज्ञात बीमारी से दो बच्चों की मौत के बाद सीएमएचओ डॉ. चेतराम मीणा गत शुक्रवार रात ही गांवों की ओर दौड़ पड़े। वहां उन्होंने रात में ही चिकित्सक व नर्सिंग स्टाफ की बैठक लेकर बीमारी के बारे में जानकारी ली। साथ ही बीमारी को नियंत्रण करने के निर्देश दिए। सीएमएचओ डॉ. तेजराम मीणा ने बताया कि गण्डावर व बोहना गांव में लोगों के गले में सूजन आने का रोग फैल रहा है। रोगी अस्पताल में परामर्श नहीं लेकर झोला छाप के यहां इलाज करा रहे है। इस पर उन्होंने देर रात को बहरावण्डा खुर्द, खण्डार, बहरावण्डा कलां, बालेर में आदि जगहों पर चिकित्सक व नर्सिंग स्टाफ की बैठक ली। बाद में अलग-अलग टीम बनाकर गांव में जाकर रोगियों का उपचार करने के निर्देश दिए।


दो रोगी जिला अस्पताल में भर्ती
सीएमएचओ ने बताया कि बोहना गांव में अज्ञात बीमारी पर नियंत्रण है। दो रोगियों को शुक्रवार देर रात को जिला अस्पताल में भर्ती कराया था। इस पर एक का उपचार कर घर भेज दिया। जबकि दूसरे रोगी का इलाज जारी है।


प्रति घंटे ले रहे अपडेट
सीएमएचओ ने बताया कि रोग पर नियंत्रण पाने के लिए गण्डावर व बोहना में राष्ट्रीय बाल सुरक्षा कार्यक्रम की टीम, एक-एक चिकित्सक, कम्पाउण्डर व नर्स की 8-8 घंटे की ड्यूटी लगा रखी है। उनसे चिकित्सा विभाग के कंट्रोल रूम द्वारा मौके से प्रत्येक घंटे से गांव में रोगियों की स्थिति के बारे में अपडेट ले रहे है।


11 संदिग्ध रोगियों के लिए सेम्पल, 107 की जांच की
अज्ञात बीमारी से दो मासूमों की मौत के बाद सीएमएचओ के निर्देश पर शनिवार को चिकित्सक व नर्सिंग स्टाफ ने गांवों में पहुंचकर रोगियों की जांच कर नमूने लिए। सीएमएचओ ने बताया कि फिजिशियन डॉ. विकास मीणा, शिशु एवं बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. महेश मीणा, नाक,कान गला रोग विशेषज्ञ तथा माइक्रोबॉयोलॉजिस्ट अंकुर त्यागी ने गांव में 107 रोगियों की जांच की। उन्हें मौके पर ही उपचार कर दवा दी। साथ ही 11 रोगी संदिग्ध मिले। इनमें 4 रोगी गण्डावर के तथा 7 रोगी बोहना के शामिल थे। उनको दवा दी गई। बाद में उन्हें जिला अस्पताल में जांच करा उपचार लेने के समझाइश की।


झोलाछाप के चक्कर में नहीं आए
ग्रामीण क्षेत्र के लोग बीमार होने पर तुरंत नजदीकी अस्पताल में पहुंचकर परामर्श लेकर इलाज शुरू कराए। वे झोलाछापों के चक्कर में नहीं आए। बोहना व गण्डावर गांव में अज्ञात बीमारी पर नियंत्रण है। वहां 24 घंटे प्रति 8-8 घंटे के लिए चिकित्सा टीम लगा रखी है।
डॉ. तेजराम मीणा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी सवाईमाधोपुर।


बोहना गांव में एक और मौत
उपखण्ड क्ष़ेत्र की ग्राम पंचायत गण्डावर में अज्ञात बीमारी से होने वाली मौत का सिलसिला जारी है। घीरे-धीरे बीमारी गांव में फैलती जा रही है, जिससे आए दिन गांव के बच्चों की मौत हो रही है। ग्राम पंचायत सरपंच निरजंना मीणा, खेमराज मीणा, कैलाश मीणा, मिश्रीलाल मीणा आदि ने बताया कि गांव में शनिवार को बरसाना पुत्री नन्दकिशोर माली निवासी बाडोला मध्यप्रदेश जो अपने मामा के यहां आई थी। उसकी मौत हो गई। ग्रामीणों ने बताया कि गांव के छह बच्चे और इस बीमारी से जूझ रहे हैं, जिनमें सोनू पुत्र रणवीर मीना, कृष्णा पुत्री रामकेश मीणा, नीरजा पुत्री रामदयाल गुर्जर, मुस्कान पुत्री रामभरोस वैष्णव, रोहित पुत्र लखन मीणा ये सब लोग सवाई माधोपुर चिकित्सालय में भर्ती है।


चिकित्सा विभाग का दावा है कि गण्डावर ग्राम पंचायत में चिकित्सा टीम घर घर जाकर लोगों की जांच कर रही है। बीमारी पर लगाम लगाने की पूरी कोशिश की जा रही है। लेकिन ग्रामीण इससे संतुष्ट नहीं है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned