जल्द खुलेगी मोरेल बांध की नहरें

जल्द खुलेगी मोरेल बांध की नहरें

-आज संभागीय आयुक्त लेंगे जल वितरण समिति की बैठक
-सवाईमाधोपुर व दौसा जिले के 83 गांव की 78 हजार बीघा भूमि पर लहलहाएंगी फसलें

सवाईमाधोपुर. रबी की फसल के लिए मोरेल बांध की नहरंे जल्द खोली जाएंगी। इसके लिए बुधवार को जिला कलक्ट्रेट सभागार में संभागीय आयुक्त पीसी बेरवाल जल वितरण समिति की बैठक लेंगे। बैठक के बाद ही मोरेल बांध की नहर को खोला जाएगा।

By: rakesh verma

Published: 17 Nov 2020, 09:08 PM IST

जल्द खुलेगी मोरेल बांध की नहरें

-आज संभागीय आयुक्त लेंगे जल वितरण समिति की बैठक
-सवाईमाधोपुर व दौसा जिले के 83 गांव की 78 हजार बीघा भूमि पर लहलहाएंगी फसलें

सवाईमाधोपुर. रबी की फसल के लिए मोरेल बांध की नहरंे जल्द खोली जाएंगी। इसके लिए बुधवार को जिला कलक्ट्रेट सभागार में संभागीय आयुक्त पीसी बेरवाल जल वितरण समिति की बैठक लेंगे। बैठक के बाद ही मोरेल बांध की नहर को खोला जाएगा। संभवत एक-दो दिन में मोरेल बांध की नहर खुल जाएगी। इससे सवाईमाधोपुर व दौसा जिले के 83 गांव की 78 हजार बीघा भूमि पर फसलें लहलहाएंगी। ७० गांवों की भूमि होती है सिंचित मोरेले डेम से निकलने वाली नहर पर ७० गांव के किसान सिंचाई के लिए आश्रित है। जल संसाधन विभाग ने नहर की सफाई व मरम्मत करा चुका है।
मोरेल बांध में दो नहर हैं। मुख्य नहर एवं पूर्वी नहर। मुख्य नहर एवं माइनर नहरों की लम्बाई 105.45 किलोमीटर है। इसमें मुख्य नहर की लम्बाई 28.60 किलोमीटर है। मुख्य नहर में 19 माइनर नहरें हैं, जिनकी लम्बाई 76.85 किलोमीटर है। इस कुल सिंचित क्षेत्र 12 हजार 964 हैक्टेयर भूमि है। इससे बौंली व मलारना डूंगर के 55 गांवों को पानी मिलता है। इसी प्रकार पूर्वी नहर जो कि 6 फीट की ऊंचाई पर बनी हुई है। पूर्वी मुख्य नहर एवं माइनर की लम्बाई 53.32 किलोमीटर है। इसमें मुख्य नहर की लम्बाई 31.79 लम्बी है। इसमें 10 माइनर नहरें है, जिनकी लम्बाई 21.53 किलोमीटर है। इस नहर का सिंचित क्षेत्र 6 हलार 705 हैक्टेयर भूमि है। इससे 28 गांवों को पानी मिलता है लेकिन इसमें दौसा जिले के लालसोट के मात्र 13 ही गांव शामिल है। जबकि 15 गांव बामनवास तहसील के हैं।

----------------------------------------
मोरेल बांध की नहरे खोलने को लेकर बुधवार को संभागीय आयुक्त की अध्यक्षता में जल वितरण समिति की बैठक होगी। आगामी एक या दो दिन में नहरंे खोली जाएंगी। पूर्व में क्षेत्रवासियों ने १८ नवम्बर से नहरे खोलने की मांग की थी। ऐसे में बैठक के बाद ही निर्णय किया जाएगा।

सुरेश भोपरिया, अधीशासी अभियंता, जलसंसाधन विभाग, सवाईमाधोपुर

rakesh verma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned