अब टिकट से पहले पता चलेगा सीट कंफ र्म है या नहीं,निजी कंपनी तैयार कर रही सॉफ्टवेयर

Shubham Mittal

Publish: Jan, 13 2018 05:48:41 PM (IST)

Sawai Madhopur, Rajasthan, India
अब टिकट से पहले पता चलेगा सीट कंफ र्म है या नहीं,निजी कंपनी तैयार कर रही सॉफ्टवेयर

अब टिकट से पहले पता चलेगा सीट कंफ र्म है या नहीं,निजी कंपनी तैयार कर रही सॉफ्टवेयर

रेलवे कर रहा एप बनाने की तैयारी


सवाईमाधोपुर. टे्रन में सफर करने वाले यात्रियों को अब सीटे कंफर्म होने या नहीं होने की परेशानी से निजात मिलने वाली है। खासकर त्योहारी सीजन में सीट कंफर्म नहीं होने की समस्या बहुत विकट होती है। कई लोगों को यात्रा से काफी दिन पहले टिकट कराने के बाद भी कंफर्म टिकट नहीं मिलता था। अधिकतर लोग तो इस उम्मीद में वेटिंग टिकट लेते है कि यात्रा की तारीख तक टिकट कंफर्म हो जाएगा, लेकिन उसके बाद भी टिकट कंफर्म नहीं हो पाता है। ऐसे में उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ता है।

अब तक स्टेशन की टिकट खिडक़ी या आईआरसीटीसी से मिलने वाले प्रतीक्षा टिकट पर यह गारंटी नहीं होती थी कि टिकट कंफर्म होगा या नहीं। इसी समस्या से निजात दिलाने के लिए रेल मंत्रालय अब एक ऐसा एप तैयार कर रहा है जिससे यह पता चल सकेगा कि टिकट कंफर्म होने की संभावना है या नहीं।

निजी कंपनी तैयार कर रही सॉफ्टवेयर
रेलवे के कहने पर क्रिस सॉफ्टवेयर नाम की निजी फर्म रेलवे के लिए सॉफ्टवेयर तैयार करने के काम में जुट गई है। इस सॉफ्टवेयर के माध्यम से यह पता चल सकेगा कि जो प्रतीक्षा टिकट लिया जा रहा है उसके कंफर्म होने की संभावना कितने प्रतिशत है।


इस तरह से करेगा काम
रेलवे अधिकारियों ने बताया कि टे्रन में दो स्टेशनों के बीच यात्रा के दौरान अनेक कोटों की कई सीट रिक्त रह जाती है। ऐसे में अब उन कोटों की सीट पर अब यात्रियों के टिकट को कंफर्म किया जाएगा। इसके अतिरिक्त यात्रियों को सॉफ्टवेयर की मदद से पहले ही सीट कंफर्म होगी या नहीं इसकी जानकारी दे दी जाएगी। सीआईआरएस रेलवे के लिए मिश्रित एप्लीकेशन विकसित कर रहा है।

जहां एक यात्री को रेलवे की साइट पर टिकट बुक करते समय टिकट के कंफर्म होने की संभावनाओं के बारे में बताया जाएगा। अभी प्रतीक्षा टिकट पर इंमरजेंसी कोटे के अलावा यात्रियों के पास अन्य कोई विकल्प नहीं रहता है।


आरोपितों का साथ नहीं देने का किया निर्णय
भाड़ौती. गंभीरा में शुक्रवार को ठाकुरजी मंदिर पर पंच पटेलों व ग्रामीण स्तर पर बैठक हुई। इसमें जिला परिषद सदस्य की मौत को लेकर गंभीरा के पंच पटेलों ने मुद्दा उठाया। ग्रामीणों ने मृतक के परिजनों को दोबारा धमकियां ना मिले इसको लेकर पंच पटेलों व सभी ग्रामवासियों ने आरोपितों का साथ नहीं देने का निर्णय किया।

इस दौरान रामजी लाल पटेल, रामअवतार पटेल रामधन पटेल, घनश्याम मीणा, पूर्व सरपंच गणपत लाल मीणा आदि मौजूद रहे। मृतक के परिजनों को अब भी फोन पर अनजान नंबरों से धमकियां मिल रही। इसके बारे में भी चर्चा की गई। सभी ग्रामीणों ने मिलकर पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन देने का निर्णय किया।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned