अब सवाईमाधोपुर- शिवपुरी पर्यटन सर्कि ट विकसित करने की तैयारी

अब सवाईमाधोपुर- शिवपुरी पर्यटन सर्कि ट विकसित करने की तैयारी

By: Subhash

Published: 28 Jul 2021, 08:42 PM IST

सवाईमाधोपुर. यूं तो सवाईमाधोपुर जिला रणथम्भौर राष्टीय उद्यान के कारण विश्व भर में एक विशेष पहचान रखता है। लेकिन अब सवाईमाधोपुर जिले को मध्यप्रदेश के पर्यटन के साथ जोडऩे की कवायद की जा रही है। अब शिवपुरी के माधव पार्क एवं कूनो नेशनल पार्क में आने वाले पर्यटकों को भी रणभम्भौर की ओर मोडने के लिए जिला कलक्टर राजेन्द्र किशन ने विशेष कार्य योजना तैयार की है। जिला कलक्टर ने गत दिनों शिवपुरी जाकर वहांं के जिला कलक्टर अक्षय कुमार सिंह, वन्य जीव और पर्यटन के विषेषज्ञों और टूर एंड ट्रेवल ऑपरेटर्स से मुलाकात कर इस कार्य योजना पर प्रारम्भिक चर्चा की। अब दोनों जिला कलक्टर सम्बंधित राज्य सरकारों से इस बाबत चर्चा करेंगे। राज्य सरकारें सहमत हुई तो केन्द्रीय पर्यटन मंत्रालय को सवाईमाधोपुर-शिवपुरी पर्यटन सर्किट विकसित करने का प्रस्ताव भेजा जाएगा।
पर्यटन को मिलेगा बूम
जिला कलक्टर ने बताया कि यह पर्यटन सर्किट बन गया तो दोनों जिलों की अर्थव्यवस्था को बहुत बूस्ट मिलेगा। यह दोनों जिलों के लिए अच्छा रहेगा। शिवपुरी आने वाले 50 प्रतिशत और रणथम्भौर आने वाले 50 प्रतिशत भी पर्यटक दोनों स्थानों की विजिट करें तो पर्यटन को बहुत बूम मिलेगा।
अब शिवपुरी के कलक्टर आएंगे सवाईमाधोपुर
योजना को आगे बढ़ाने के लिए अब जल्द ही शिवपुरी जिला कलक्टर एक प्रतिनिधिमंडल के साथ सवाईमाधोपुर आएंगे। इस दौरान वह सवाईमाधोपुर के टूर एंड ट्रेवल ऑपरेटरों से भी चर्चा करेंगे।
इन पर्यटन स्थलों की दी जानकारी
यात्रा के दौरान सवाईमाधोपुर कलक्टर शिवपुरी जिला कलक्टर को रणथम्भौर दुर्ग, खंडार, चौथ का बरवाडा, शिवाड़,, सूरवाल, कुशालीपुरा के ऐतिहासिक, वाइल्ड लाइफ और धार्मिक पर्यटन स्थलों के महत्व की भी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि वर्ष 2010 से 2019 के बीच यहॉं आने वाले पर्यटकों की संख्या सवा 2 गुना हो गई है। विश्वभर की सेलेब्रिटी के लिए यह वेडिंग और वेकेशन प्लेस के रूप में उभरा है। टाइगर की दहाड के लिए मशहूर इस पार्क को जिले की अर्थव्यवस्था की लाइफलाइन माना जा सकता है।
ऐसे शुरू हुई कवायद
दरअसल जबसे कूनो में चीता और शिवपुरी नेशनल पार्क में टाइगर लाने की कवायद शुरू हुई है तब से सवाईमाधोपुर-शिवपुरी वाइल्ड लाइफ हब/पर्यटन सर्किट के रूप में विकसित करने की दोनों जिलों में चर्चा चल रही है। षिवपुरी में सिंधिया छतरी, सेलिंग क्लब, नेषनल पार्क, भदैया कुंड, जिला संग्रहालय जैसे स्थलों को देखने के बाद सवाईमाधोपुर कलक्टर ने शिवपुरी कलेक्टर से सेलिंग क्लब पर चर्चा के दौरान कहा कि यदि सवाई माधोपुर से शिवपुरी और शिवपुरी से फिर ओरछा का टूरिस्ट सर्किट तैयार हो जाए तो दोनों जिलों के आर्थिक विकास के दृष्टिकोण से बेहद अहम होगा।

Subhash Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned