scriptNow the operation of piles patients will be done in Urban Ayurveda Hos | अब शहरी आयुर्वेद चिकित्सालय में होंगे पायल्स रोगियों के ऑपरेशन | Patrika News

अब शहरी आयुर्वेद चिकित्सालय में होंगे पायल्स रोगियों के ऑपरेशन

अब शहरी आयुर्वेद चिकित्सालय में होंगे पायल्स रोगियों के ऑपरेशन

सवाई माधोपुर

Published: January 10, 2022 11:38:26 am

सवाईमाधोपुर. अब पायल्स के रोगियों को ऑपरेशन के लिए शिविरों का इंतजार नहीं करना पड़ेगा। आयुर्वेद विभाग शीघ्र ही शहर स्थित आयुर्वेद चिकित्सालय में आयुर्वेदिक पद्धति से पायल्स बीमारियों का ऑपरेशन शुरू कराने की कवायद शुरू करेगा।
शहर स्थित आयुर्वेद चिकित्सालय में जल्द ही पाइल्स का ऑपरेशन करने की व्यवस्था शुरू की जाएगी। ऐसे में पाइल्स से पीडि़त मरीजों को अब इलाज के लिए बाहरी नहीं जाना पड़ेगा। जल्द ही स्थानीय स्तर पर यह प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। इससे परिजनों को लाभ मिलेगा।
इसलिए होती है पाइल्स बीमारी
आयुर्वेद विभाग से मिली जानकारी के अनुसार पाइल्स की बीमारी की समस्या गर्म खानपान, लंबे समय तक कब्जी, आनुवंशिकता, अनियमित दिनचर्या के कारण होती है। इसके लिए आयुर्वेद चिकित्सालय में क्षारसूत्र विधि से ऑपरेशन किए जाएंगे। इसमें पहले मरीजों की शुगर, बीपी सहित अन्य जांचें सामान्य पाए जाने पर मरीज को सामान्य ओटी का ट्रीटमेंट दिया जाता है। इसके बाद क्षारसूत्र विधि से ऑपरेशन किया जाएगा। आयुर्वेद विधि से इस प्रकार का शहर आयुर्वेद अस्पताल में पहली बार ऑपरेशन किए जाएंगे।
ये होते है लक्षण
बवासीर में गुदा मार्ग के अंदर व बाहरी हिस्से में सूजन से होती है। इस वजह से उसके अंदर व बाहरी हिस्से में मस्से बनते हैं। मल विसर्जन में दर्द व खून की दिक्कत होती है। मस्से बाहर की ओर आ जाते हैं। फिशर भी गुदा रोग है। इसमें गुदा में व आसपास के हिस्से में दरारें व कट हो जाते हैं। फिस्टुला में गुदा के आसपास छिद्र होने से उसमें तेज दर्द, सूजन, लाल त्वचा, कब्ज और मल-त्याग के समय खून आ सकता है।
लेप से तैयार होता है धागा
क्षारसूत्र एक मेडिकेटेड धागा होता है। इसमें तीन औषधियों का लेप किया जाता है। स्नुहि थोर के दूध के 11 लेप, अपामार्ग क्षार के सात लेप तथा हल्दी के चूर्ण के तीन लेप किए जाते है। इससे क्षारसूत्र धागा तैयार होता है। इस विधि से इलाज के दौरान 10 मिनट से ज्यादा समय नहीं लगता है। रोगी दो से तीन घंटे बाद अपने घर जा सकता है। पहले ही दिन पाइल्स, मस्सा, बवासीर से आराम आ जाता है। दूसरे दिन से मरीज अपने सामान्य कामकाज कर सकता है।
अब शहरी आयुर्वेद चिकित्सालय में होंगे पायल्स रोगियों के ऑपरेशन
सवाईमाधोपुर. शहर स्थित राजकीय आयुर्वेदिक चिकित्सालय।
दो प्रकार से होती है बवासीर....
खूनी बवासीर
खूनी बवासीर एक ऐसा बवासीर होता है। इसमें बवासीर से पीडि़त व्यक्ति को अत्यधिक परेशानी नहीं होती है लेकिन इसमें गुदाद्वार से खून का प्रवाह होता है। यह खून मल त्यागने के पहले या मल त्यागने के बाद या फिर मल त्याग के साथ-साथ भी हो सकता है। अधिकांश लोगों में तो ऐसी धारणा बन जाती है कि उनका पेट खराब है या फिर हाजमा ठीक नहीं है। इससे उन्हें ऐसी परेशानी हो रही है लेकिन यह ऐसा नहीं है यह एक बीमारी है जो कि बहुत ही कष्टकारी होती है। इसका समय से पूर्व इलाज करा लेना ही एक बेहतर निर्णय होता है।
बादी बवासीर
बादी बवासीर खूनी बवासीर के बिल्कुल विपरीत होता है। बादी बवासीर में मरीज के गुदाद्वार में मस्से बन जाते हैं। इस कारण मल त्याग का द्वार बहुत छोटा हो जाता है। इसलिए बवासीर वाले रोगी को मल त्याग के समय जलन दर्द एवं खुजली जैसी समस्याएं महसूस होती है। इससे बवासीर वाले मरीज के पूरे शरीर में बेचैनी बनी रहती है एवं किसी भी काम को करने में उसका पूरी तरीके से मन भी नहीं लगता और चित अशांत रहता है।
..................................................
इनका कहना है
पूर्व में पाइल्स बीमारियों के ऑपरेशन केवल शिविरों में ही किए जाते थे लेकिन अब जल्द ही शहर स्थित आयुर्वेद चिकित्सालय में पाइल्स बीमारियों के ऑपरेशन शुरू किए जाएंगे। इसके लिए स्पेशलिस्ट चिकित्सक भी बुलाए जाएंगे।
बालकिशन गौतम, उपनिदेशक आयुर्वेद विभाग सवाईमाधोपुर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहचुनावी तैयारी में भाजपा: पीएम मोदी 25 को पेज समिति सदस्यों में भरेंगे जोशखाताधारकों के अधूरे पतों ने डाक विभाग को उलझायाकोरोना महामारी का कहर गुजरात में अब एक्टिव मरीज एक लाख के पार, कुल केस 1000000 से अधिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.