स्वच्छता और खुशहाल शिवाड़ कार्यक्रम आयोजित

Shubham Mittal

Publish: Feb, 15 2018 12:43:34 PM (IST)

Sawai Madhopur, Rajasthan, India
स्वच्छता और खुशहाल शिवाड़ कार्यक्रम आयोजित

स्वच्छता और खुशहाल शिवाड़ कार्यक्रम आयोजित

शिवाड़. कस्बे में महाशिवरात्रि महोत्सव पर शिवाड़ समाज जयपुर द्वारा स्वच्छ शिवाड़, खुशहाल शिवाड़ कार्यक्रम आयोजित किया। इस अवसर पर सवाईमाधोपुर जिला प्रमुख विनीता मीणा ने कचरा पात्र का लोकार्पण किया। इस अवसर पर शिवाड़ समाज के वरिष्ठ पदाधिकारी सतीश पाराशर, कोषाध्यक्ष नवल कुमार जैन, समाजसेवी सेवानिवृत्त शिक्षक नंदलाल पाराशर, घुश्मेश्वर द्वादश ज्योतिर्लिंग ट्रस्ट शिवाड़ अध्यक्ष प्रेम प्रकाश शर्मा, ग्राम पंचायत सेवा सरपंच गीता शर्मा, शिवाड़ पंचायत सचिव जितेंद्र शर्मा व सारसोप पंचायत सचिव सत्यनारायण मीणा ने जिला प्रमुख का माल्यार्पण कर स्मृति चिह्न भेंट किया। इस अवसर पर वरिष्ठ पत्रकार हरीश पाराशर भी मौजूद रहे।

उपचार के दौरान युवक की मौत
सवाईमाधोपुर. बहरावण्डा खुर्द चौकी इलाके के जैतपुर गांव में मंगलवार शाम करीब साढ़े सात बजे सवाईमाधोपुर से खण्डार जा रही चलती निजी बस से उतरते समय घायल हुए युवक की देर रात को उपचार के दौरान मौत हो गई। बहरावण्डा खुर्द चौकी प्रभारी रमेशपाल ने बताया कि मृतक बाबू (३५) पुत्र पीर मोहम्मद निवासी जैतपुर है। पुलिस ने बताया कि एक निजी बस सवाईमाधोपुर से खण्डार जा रही थी। इस दौरान बाबू चलती बस से कूद गया। ऐसे में संतुलन बिगडऩे से बस के पीछे के टायर उसके दोनों पैरों पर चढ़ गए थे। बाद में उसे गंभीर हालत में जयपुर रैफर कर दिया, वहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई।

आविष्कार अभियान से निखरेंगी बाल प्रतिभाएं
गंगापुरसिटी. ज्ञान और प्रतिभा को प्लेटफार्म देने के लिए सरकार छात्रों को राष्ट्रीय आविष्कार अभियान से जोडऩे जा रही है। विज्ञान व गणित में रुचि रखने वाले छात्रों को आविष्कार के लिए प्रेरित करने पर जोर दिया जाएगा। अभियान में कक्षा 6 से ८वीं तक के बच्चों पर विशेष ध्यान दिया गया है। यह योजना सर्व शिक्षा अभियान के तहत संचालित होगी। इसको लेकर 28 फरवरी को पूरे प्रदेश के कुल 4917 स्कूलों तथा प्रत्येक जिले के 149 स्कूलों में जिलास्तरीय विज्ञान मेले का आयोजन होगा।

इसमें छात्र अपने मॉडल पेश करेंगे। जिला स्तरीय मेले से पूर्व विद्यालय स्तर पर विज्ञान मेले होंगे, जहां छात्रों का जिलास्तरीय मेले के लिए श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले प्रतिभागियों का चयन किया जाएगा। विभागीय अधिकरियों के मुताबिक जिले के 149 स्कूलों से प्रतिभाएं तलाशी जाएंगी। मेले में चयनित स्कूलों से एक प्रतिभागी को आवश्यक रूप से भाग लेना होगा। अधिकतम तीन प्रतिभागी भाग ले सकेंगे। फिर इन्हीं बच्चों में से चयनित बच्चों को आगे भेजा जाएगा। स्कूलों में होने वाले विज्ञान मेलों का उद्देश्य छात्रों की वैज्ञानिक सोच परखना हैं। स्कूल में विज्ञान, गणित क्लब बनेंगे।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned