बीमारी में सर्द हवाओं के थपेड़े रोगियों को दे रहे दर्द

बीमारी में सर्द हवाओं के थपेड़े रोगियों को दे रहे दर्द

सवाईमाधोपुर. सर्दी के मौसम में जिला अस्पताल में इन दिनों मरीज उनके मरीज परेशानियों का दर्द झेल रहे है। अस्पताल प्रशासन की लापरवाही से मरीजों पर इस ठंड में दोहरी मार पड़ रही है। एक तरफ मरीज बीमारी का कहर झेल रहे है, ऊपर से सर्द हवा के थपेड़ों का। स्थिति ये है कि सामान्य चिकित्सालय में कई वार्डों में खिड़कियां टूटी है, तो कई कक्षों में दरवाजे टूटे है, तो कई कक्षों से दरवाजे ही गायब है। इसके अलावा सर्दी से बचाव के लिए रजाई-कम्बल व हीटर तक की भी कोई व्यवस्था नहीं है।

सर्द हवा से ठिठुरते रोगी
सामान्य चिकित्सालय में कैंसर केयर यूनिट के पास महिला वार्ड में एक खिड़की की जाली टूटी थी। ऐसे में खिड़की पर कागज का गत्ता लगा था। यहां बेड पर भर्ती भारजा नदी निवासी धनबाई ने बताया कि सर्दी-जुकाम, खांसी के चलते भर्ती है। खिड़की से रात को हवा आती है। इसके अलावा कम्बल नहीं होने रजाई घर से लानी पड़ी।

एक्स्ट्रा ट्रोमा वार्ड के दरवाजे में छेद
सामान्य चिकित्सालय स्थित एक्स्ट्रा ट्रोमा वार्ड में हालात बदतर है। यहां एक्स्ट्रा ट्रोमा वार्ड में एक दरवाजा ताले में बंद है लेकिन छेद होने से हवा वार्ड में आती रहती है। मातृृ एवं शिशु चिकित्सालय में दूसरे तल पर प्रसव पश्चात वार्ड यूनिट बी में भी दरवाजा लगा है लेकिन नीचे के हिस्से से टूटा है।

यहां दरवाजा ही गायब
मातृ एवं शिशु चिकित्सालय में ज्यादा हालत खराब है। दूसरी मंजिल पर कमरा नम्बर 201 बच्चा वार्ड में तो दरवाजा तक नहीं है। ऐसे में हवा आर-पार आती रहती है। दोंदरी निवासी हासिफा व खटुपुरा निवासी रोहित कुमार वर्मा ने बताया कि बच्चा वार्ड में दरवाजा नहीं होने से रात के समय गेट नहीं होने से सर्द हवा लगती है। हीटर की भी कोई व्यवस्था नहीं है।

ओढऩे के लिए नहीं है रजाई-कमब्ल
मातृ एवं शिशु चिकित्सालय के प्रसुता वार्ड में तो ओढ़ाने के लिए पर्याप्त कम्बल तक नहीं है। पूरे कक्ष में एक या दो महिलाओं के पास कम्बल मिला। बाकी रोगी तो घर से लाए रजाई व कम्बल ओढ़े दिखाई दिए। मरीजों के परिजन मदनपुरा निवासी हरिमोहन बैरवा ने बताया कि गर्भवती होने के चलते बहू को भर्ती कराया है लेकिन कम्बल व रजाई की कोई व्यवस्था नहीं है। घर से ही कम्बल व रजाई लाना पड़ा। इसी प्रकार पांचोलास निवासी संतोष सोलंकी भी गर्भवती होने से वार्ड में भर्ती थी। उन्होंने बताया कि अस्पताल की ओर से सर्दी के बचाव के लिए कोई प्रबंध नहीं है।

आईसीयू वार्ड के बाहर टूटी कुर्सिया
जिला अस्पताल के आईसीयू वार्ड के बाहर हालात और भी ज्यादा खराब है। यहां आईसीयू वार्ड के बाहर कुर्सियां गायब है। ऐसे में रोगियों के परिजनों को जमीन पर ही बैठना पड़ता है। शहर निवासी ताहिर अली व अब्दुल अजीज ने बताया कि यहां बैठने के लिए कुर्सियां नहीं है। ऐसे में खड़े ही रहना पड़ता है। इसके अलावा कुर्सियों के अभाव में कई रोगियों के परिजन जमीन पर ही बैठे दिखे।

इनका कहना है
सामान्य चिकित्सालय में टूटी खिड़कियों व दरवाजे को जल्द ही ठीक कराया जाएगा। सर्दी के चलते रोगियों को एक कम्बल दे रखे है। मरीजो को दिक्कत हो रही है, तो अतिरिक्त कम्बल की व्यवस्था कराई जाएगी।
बीएल मीना, पीएमओ, जिला अस्पताल सवाईमाधोपुर

Subhash Reporting
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned