बर्ड फ्लू की दस्तक के बीच वजीरपुर में मृत मिले मोर

बर्ड फ्लू की दस्तक के बीच वजीरपुर में मृत मिले मोर पॉल्ट्री फॉर्म से पक्षियों के सैंपल जांच के लिए भेजे जाएंगे -एच-5 एवियन इन्फ्लूएंजा वायरस का मिला संक्रमण गंगापुरसिटी. पक्षियों के लिए जानलेवा बीमारी बर्ड फ्लू ने उपखंड क्षेत्र में भी दस्तक दे दी है। जांच के लिए भोपाल भेजे गए मृत कौओं के सैंपल पॉजिटिव मिले है। वहीं शनिवार को वजीरपुर इलाके में मोर के मृत होने से ग्रामीणों में बर्ड फ्लू की आशंका और बढ़ गई है। ग्रामीणों ने बताया कि तीन चार मिनट में ही मोर की मौत हो गई। वरिष्ठ पशु चिकित्सक डॉ. ज्योत

By: rakesh verma

Updated: 09 Jan 2021, 12:38 PM IST

बर्ड फ्लू की दस्तक के बीच वजीरपुर में मृत मिले मोर
पॉल्ट्री फॉर्म से पक्षियों के सैंपल जांच के लिए भेजे जाएंगे
-एच-5 एवियन इन्फ्लूएंजा वायरस का मिला संक्रमण
गंगापुरसिटी. पक्षियों के लिए जानलेवा बीमारी बर्ड फ्लू ने उपखंड क्षेत्र में भी दस्तक दे दी है। जांच के लिए भोपाल भेजे गए मृत कौओं के सैंपल पॉजिटिव मिले है। वहीं शनिवार को वजीरपुर इलाके में मोर के मृत होने से ग्रामीणों में बर्ड फ्लू की आशंका और बढ़ गई है। ग्रामीणों ने बताया कि तीन चार मिनट में ही मोर की मौत हो गई।
वरिष्ठ पशु चिकित्सक डॉ. ज्योति गुप्ता ने बताया कि गत दिनों जाट बड़ौदा पार्क में मृत मिले कौओं के सैंपल जांच के लिए भोपाल भेजे गए। जिनमें से 2 सैंपलों की जांच की गई, जो शुक्रवार को पॉजिटिव मिले है। क्षेत्र में बर्ड फ्लू के पॉजिटिव केस मिलने के बाद पशुपालन विभाग अलर्ट मोड पर आ गया है। अब क्षेत्र में संचालित पॉल्ट्री फॉर्म से पक्षियों के सैंपल जांच के लिए भेजे जाएंगे। ताकि अन्य पक्षियों में इस वायरस को फैलने से रोकने की कवायद की जा सके। (ब.उ.)
एच-5 एवियन इन्फ्लूएंजा का मिला संक्रमण
जांच के लिए भोपाल भेजे गए मृत कौओं में एच-5 एवियन इन्फ्लूएंजा का संक्रमण मिला है। डॉ. गुप्ता ने बताया कि एच-5 एवियन इन्फ्लूएंजा एक प्रकार का वायरस है। यह आम तौर पर पक्षियों में पाया जाता है। यह वायरस इंसानों को भी प्रभावित कर सकता है।
चिंता छोड़, रखे सावधानी
बर्ड फ्लू से चिंतित होने की बजाय सावधानी व सुरक्षा बरतने की जरूरत है। अभी जिले में 2 स्थानों से भेजे गए सैंपल पॉजिटिव मिले है। राहत की बात यह है कि घरेलू पॉल्ट्री फॉर्म अभी सुरक्षित है। ऐसे में सभी पॉल्ट्री व्यवसायी बीमार पक्षियों व मृत पक्षियों के सम्बन्ध में तुरन्त कंट्रोल रूम में सूचना दे। ताकि समय रहते जांच कराकर बर्ड फ्लू के प्रसार पर रोकथाम लगाई जा सके।
-डॉ. ज्योति गुप्ता, वरिष्ठ पशु चिकित्सक।

rakesh verma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned