राशन डीलरों ने समस्याओं से करवाया अवगत

प्रवर्तन निरीक्षक से समाधान की मांग

By: Arun verma

Published: 20 Nov 2020, 09:02 PM IST

खण्डार. उपखण्ड मुख्यालय के समस्त राशन डीलरों ने शुक्रवार दोपहर रसद विभाग के प्रवर्तन निरीक्षक पूजा मीणा से मुलाकात कर अपनी समस्याओं से अवगत करवाया। साथ ही जल्द निराकरण नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी। इस संबंध में ज्ञापन भी सौंपा गया।

राशन डीलर अध्यक्ष मुरारी लाल जाट ने ज्ञापन में बताया कि जुलाई से नवम्बर माह तक का डीलरों का कमीशन का भुगतान नहीं किया गया है। वहीं पांच माह से माला भाणा ढुलाई भी नहीं मिल रही है। जिससे राशन डीलरों पर आर्थिक भार बढ़ रहा है।

इधर, रसद सामग्री भी कम मात्रा में आ रही है। जिससे डीलरों को नुकसान उठाना पड़ रहा है। उपभोक्ता पूरी मात्रा में रसद सामग्री चाहते हंै। रसद सामग्री पर्याप्त नहीं देने पर विवाद होने की संभावना आए दिन बनी
रहती है।

इसके अन्य महत्वपूर्ण समस्याओं से अवगत कराया। इस मौके पर श्याम लाल चौधरी, बंशीलाल जाट, सतीश जैन, समय सिंह गुर्जर, रामावतार मीणा, कैलाश चौधरी, चंदप्रकाश, मंगल मथुरिया व घनश्याम जाट आदि लोग मौजूद थे।

राशन डीलरों की बैठक आयोजित
खण्डार. तहसीलदार देवीसिंह ने क्षेत्र के समस्त राशन डीलरों की शुक्रवार को बैठक ली। जिसमें सभी डीलरों को आधार सीडिंग का कार्य जल्द से जल्द पूरा करवाने के निर्देश दिए।

तहसीलदार ने बताया कि वन राशन वन नेशन के तहत जल्द से जल्द राशनों में आधार सिडिंग होना जरूरी है। इस पर राशन डीलरों ने बताया कि ई मित्र सेवा केन्द्रों पर सीडिंग का कार्य करवाने के बाद भी रसद विभाग की ओर से पोश मशीनों में सीडिंग नहीं हो रही है।

इधर, तहसीलदार ने बताया कि जो ई मित्र संचालक ग्रामीणों से सीडिंग के नाम पर अवैध वसूली कर रहे हैं। उनका लिखित में नाम दें, जिससे उनके खिलाफ कार्रवाई कर सकें। इस मौके पर प्रवर्तन निरीक्षक पूजा मीणा, प्रोग्रामर गोविन्द विजय, राशन डीलर अध्यक्ष मुरारी लाल मीणा सहित राशन डीलर मौजूद रहे।

इनका कहना है...
राशन डीलरों ने समस्याओं से अवगत करवाया है। डीलरों की समस्या को उच्चाधिकारी को बताकर जल्द ही समाधान करवाएंगे।
पूजा मीणा, प्रवर्तन निरीक्षक, रसद विभाग, सवाईमाधोपुर

Arun verma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned