शहादत को सेना का नमन

जिले के शहीद के नाम बनेगा वार मेमोरियल भारतीय सेना की अनूठी पहल 12 बिहार रेजिमेंट कराएगी मेमोरियल का निर्माण

By: Shubham Mittal

Published: 08 Dec 2019, 01:20 PM IST

सवाईमाधोपुर.भारत माता की रक्षा के लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर करने वाले जिले के एक मात्र सैन्य अधिकारी शहीद कैप्टन रिपदुमन सिंह की शहादत को शहादत के करीब 15 साल बाद भारतीय सेना की ओर से शहादत की सच्ची श्रद्धाजंलि मिलने जा रही है। भारतीय सेना की ओर से देश के वीर शहीदोंं की याद में वार मेमोरियल तैयार कराए जा रहे हैं। इसी क्रम में शहीद कैप्टन रिपुदमन सिंह की याद में भी जिले में एक वार मैमोरियल तैयार कराने की तैयारी की जा रही है। अगर सब कुछ ठीक रहा तो जल्द ही जिले में वार मैमोरियल तैयार हो जाएगा।
12 बिहार रेजिमेंट कराएगी निर्माण
जानकारी के अनुसार भारतीय सेना की 12 बिहार रेजिमेंट की ओर से शहीद कैप्टन रिपुदमन सिंह की याद में वार मैमोरियल तैयार कराने की कवायद की जा रही है। इसके लिए पूर्व में रेजिमेंट के कर्नल राहुल ने 3 अप्रेल 2019 को शहीद कैप्टन रिपुदमन पीजी कॉलेज का दौरा भी किया गया था। मैमोरियल निर्माण की तैयारियां अंतिम चरण में हैं।
शहीद के परिजनों से मिले अधिकारी
इसी क्रम में गुरुवार को बिहार रेजिमेंट के कर्नल भरतसिंह ने सवाईमाधोपुर के पाली में शहीद के पिता भरतसिंह व भाई डॉ. जयदीप से मुलाकात कर वार मैमोरियल बनाने की योजना पर विस्तार से चर्चा की थी।
कॉलेज मेंं है प्रसतावित
जानकारी के अनुसार वार मैमोरियल का निर्माण शहीद कैप्टन रिपुदमन पीजी कॉलेज में किया जाना प्रस्तावित है इसके लिए सेना व परिजनों की ओर से पिछले 12 सालों से लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। हालांकि अब जल्द ही सरकार की ओर से पीजी कॉलेज में जमीन आवंटन की जाएगी। इसकी प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। यहां 5 फीट की छतरी या अमर जवान स्मारक का निर्माण कराया जाएगा।
हर साल होगी बैण्ड सेरेमनी
वार मैमोरियल के निर्माण के बाद 12 बिहार रेजिमेंट की ओर से हर साल शहीद की पुण्य तिथि 3 अप्रेल को वार मैमोरियल पर शहीद के सम्मान में बैण्ड सेरेमनी का आयोजन भी किया जाएगा।इसके लिए हर साल 12 बिहार रेजिमेंट के अधिकारी सवाईमाधोपुर आएंगे।
पत्रिका ने उठाया था मुद्दा
जिले के वीर शहीदों के सम्मान में स्मारक आदि के निर्माण के लिए पत्रिका ने पूर्व में 'जरा याद उन्हे भी कर लोÓ शीर्षक से कई बार समाचार प्रकाशित कर शहीदों व उनके परिजनों की पीड़ा व मांगों को प्रमुखता से उठाया था।
एक नजर में शहीद कैप्टन रिपुदमन
16 दिसम्बर 1977 को हुआ जन्म
3 अप्रेल 2004 को हुई शहादत
28 साल की उम्र में वीरगति को हुए प्राप्त
जम्मू कश्मीर के कु वपाडा में आंतकवादियों से मुतभेड़ में मिली शहादत
यह मिले सम्मान....
19 मई 2015 को पीजी कॉलेज का नामकरण शहीद के नाम पर हुआ।
एनसीसी अधिकारी डॉ. ओपी शर्मा ने शहीद की जिवनी पर 'शहादत को नमनÓ नामक पुस्तक लिखी जिसका विमोचन तात्कालीन राज्यपाल प्रतिभा पाटिल व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने किया था।
इनका कहना है....
हम लम्बे समय से वार मैमोरियल के निर्माण की मांग कर रहे थे। हर सेना ही ओर से वार मैमोरियल निर्माण की कवायद की जा रही है।
-डॉ. जयदीप सिंह, शहीद कैप्टन रिपुदमन सिंह के भाई।

Patrika
Shubham Mittal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned