समस्याओं को लेकर शिक्षकों में रोष

समस्याओं को लेकर शिक्षकों में रोष
मांगों से कराया अवगत...

By: Shubham Mittal

Published: 12 Nov 2017, 06:51 PM IST

सवाईमाधोपुर. जिले के शिक्षक व शिक्षिकाओं ने शुक्रवार को मुख्य कार्यकारी अधिकारी को ज्ञापन सौंपकर 2015 में नियुक्त शिक्षकों के परिवीक्षाकाल पूर्ण कर वेतन नियमितिकरण कराने की मांग की। ज्ञापन में बताया कि शिक्षक भर्ती 2013 के अंतर्गत मार्च 2015 में शिक्षक पद पर नियुक्त हुए थे। मार्च 2017 में दो वर्ष का परिवीक्षाकाल पूर्ण को चुका है। आठ माह के बाद भी वेतन नियमित नहीं किया गया। दो वर्ष की सेवा संतोषजनक होने के बावजूद पूर्व वेतन नहीं दिया जा रहा है। शिक्षकों ने बताया कि अधिकतर जिलों में 2015 में नियुक्त शिक्षकों का वेतन नियमितकरण हो चुका है।

 

 

इसको लेकर 28 जुलाई 2017 के पंचायतीराज विभाग के आदेश का पालन नहीं किया जा रहा है। इसके लिए संशोधित परिणाम शिक्षक भर्ती 2013 के अनुसार भी नई नियुक्तियां देकर अंतिम चयन सूचियां बनाई जा चुकी है। इसके आधार पर वेतन नियमितीकरण की कार्रवाई की जानी है। सभी शिक्षकों ने वेतन नियमितकरण की कार्रवाई शीघ्र नहीं होने पर धरना-प्रदर्शन की चेतावनी दी है। ज्ञापन सौंपने के दौरान बुद्धि प्रकाश, मंजू, बनवारी, पुनीत, भवानीङ्क्षसह, विजेन्द्र, नत्थूसिंह, घनश्याम, मदन, चन्द्रशेखर व राजेन्द्र आदि मौजूद थे।

 

 


भगवतगढ़. राष्ट्रीय शिक्षक संघ ग्रामीण एवं नगर मंडल के पदाधिकारियों एवं सदस्यों ने शुक्रवार को उपखंड अधिकारी लक्ष्मीकांत कटारा को मुख्यमंत्री के नाम सातवें वेतन आयोग की सिफारिशें केंद्र के समान लागू करने के लिए ज्ञापन दिया। ग्रामीण मंडल अध्यक्ष प्रवीण चौधरी एवं मंत्री शंकरलाल मीना ने बताया कि मुख्यमंत्री के नाम दिए गए ज्ञापन में सातवें वेतन आयोग को राज्य में भी केंद्र के समान एक जनवरी 2016 से समस्त परिलाभों के साथ देने, एरियर का नकद भुगतान करने, अनुसूची 5 के अंतर्गत व्याख्याता संवर्ग के मूल वेतन में की गई कटौती को निरस्त करने आदि की मांग की गई। इस दौरान नगर मंडल अध्यक्ष चंद्रमोहन जांगिड़, नगर मंत्री कमलेश मीना, भरतपुर मंडल संयुक्त मंत्री अजय शर्मा, जिलाध्यक्ष पुरुषोत्तम शर्मा, शिवदयाल मीना, गीता जौलिया, वेद प्रकाश गुप्ता सहित दर्जनों की संख्या में शिक्षक मौजूद थे।

 

 

 


मलारना डूंगर. राजस्थान शिक्षक संघ (राष्ट्रीय) उप-शाखा के बैनर तले शुक्रवार को शिक्षकों ने मुख्यमंत्री के नाम उपजिला कलक्टर को पांच सूत्री मांगों का ज्ञापन सौंपा। संघ के मंत्री सुनील शर्मा ने बताया कि ज्ञापन में सातवें वेतन आयोग की सिफारिश राज्य में केन्द्र के अनुरूप समस्त परिलाभों सहित एक जनवरी 2016 से लागू कर एरियर का नकद भुगतान करने, शिक्षकों के सभी संवर्गों का वेतनमान केन्द्र के शिक्षकों के समकक्ष निर्धारित सातवें वेतन आयोग में स्थरीकरण करने, अनुसूची 5 के अंतर्गत किए गए मूल वेतन कटौती को तत्काल निरस्त कर व्याख्याता संवर्ग के साथ हुए अन्याय से राहत प्रदान करने की मांग की।

 

 


बौंली. राजस्थान शिक्षक संघ राष्ट्रीय के जिला उपाध्यक्ष प्यार सिंह गुर्जर के नेतृत्व में संघ के सदस्यों ने मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम विजेंद्र मीना को ज्ञापन सौंपा। संघ ने उपशाखा स्तर पर अधिसूचना की होली जलाते हुए धरना-प्रदर्शन की चेतावनी दी।

 

 


खण्डार . सातवें वेतन आयोग की सिफारिशें राज्य में केन्द्र के समान 01 जनवरी से लागू करने के संबंध में राजस्थान शिक्षक संघ राष्ट्रीय उपशाखा खण्डार के पदाधिकारियों ने शिक्षक संघ अध्यक्ष प्रभुदयाल बैरवा के नेतृत्व मे उपखण्ड अधिकारी सुनील आर्य को ज्ञापन सौंपा। शिक्षक संघ मंत्री हरिशंकर मथुरिया ने बताया कि इस मौके पर महेश चंद शर्मा, रमाकान्त जैन, रमेश चंद मथुरिया, मूलचंद महावर, अख्तर खान, देवेन्द्र, राजेश बैष्णव, राधेश्याम जाट, भवरसिंह नरूका, रणवीर सिंह , इन्द्रकुमार स्वर्णकार जगदीश स्वर्णकार, रामचरण माली आदि उपस्थित थे।

 

 


चौथकाबरवाड़ा. कस्बे में राजस्थान शिक्षक संघ राष्ट्रीय के बैनर तले शिक्षक संघ ने शुक्रवार को अपनी मांगों को लेकर तहसील कार्यालय पर धरना प्रदर्शन कर उपखंड अधिकारी को मुख्यमंत्री तथा मुख्य सचिव के नाम ज्ञापन सौंपकर अपना विरोध जताया। ज्ञापन में बताया कि सातवें वेतन आयोग की सिफारिश राज्य में केंद्र के अनुरूप कर 1 जनवरी 2016 से एरियर का नगद भुगतान किया जाए।

 

 

 


वेतन आयोग की विसंगति दूर करें
सवाईमाधोपुर. राजस्थान राज्य कर्मचारी महासंघ की जिला शाखा के कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को उपखण्ड अधिकारी को ज्ञापन सौंपकर मांगों से अवगत कराया। जिलाध्यक्ष मनोजकुमार शर्मा ने बताया कि इसमें सातवें वेतन आयोग को एक जनवरी 2016 से लागू करने, राज्य सरकार द्वारा अनुसूची पांच में किए गए संशोधनों को रद्द करने, सरकारी विभागों के निजीकरण पर रोक लगाने, संविदा कर्मियों को समान काम के लिए समान वेतन देने, समयबद्ध पदोन्नति के प्रावधान करने, राजस्थान राज्य कर्मचारी महासंघ व सम्बद्ध संस्थानों को मान्यता देने आदि मांगे शामिल है। इस दौरान लक्ष्मणलाल मीणा, पुरुषोत्तम शर्मा आदि मौजूद थे।

 

 

 


शिक्षकों की समस्याएं दूर करने की मांग : राजस्थान शिक्षक संघ सियाराम के प्रतिनिधि मण्डल ने शुक्रवार को जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक से मिलकर शिक्षकों की समस्याएं दूर करने की मांग की। जिला मंत्री योगेश जेलिया ने बताया कि प्रतिनिधि मण्डल ने जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक महेश शर्मा से प्रबोधकों के नौ वर्षीय चयनित वेतनमान, सातवे वेतनमान का लाभ देने, डी ग्रेड शिक्षकों की समस्या निस्तारण कर चयनित वेतनमान का लाभ देने की मांग की। इस दौरान फैयाज अहमद, जुबैर चौधरी, नासिर खान, अनूप कुलश्रेष्ठ, हारुन बैग, मकसूद खान आदि मौजूद थे।

Patrika
Show More
Shubham Mittal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned