विद्यार्थियों ने विद्यालय के जड़ा ताला

www.patrika.com/rajasthan-news

By: rakesh verma

Published: 20 Jul 2018, 02:15 PM IST

सूरवाल. राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय बाड़ोलास में लंबे समय से शिक्षकों की कमी बनी हुई है। गुरुवार को नाराज छात्रों ने स्कूल के मुख्य दरवाजे के ताला जड़ दिया और सभी बाहर एकत्र हो गए। मामला शिक्षा अधिकारियों तक पहुंचा तो 25 जुलाई तक शिक्षकों की व्यवस्था का आश्वासन मिला। तब स्कूल का ताला खुला और पढ़ाई चालू हुई। प्रधानाध्यापक जगदीश प्रसाद मीना के अनुसार स्कूल में प्रथम श्रेणी के शिक्षक का एक पद, द्वितीय श्रेणी के शिक्षकों के पांच पद और तृतीय श्रेणी के शिक्षकों के दो पद रिक्त चल रहे हैं।

कक्षा नवीं और दसवीं के छात्र-छात्राओं को पढ़ाने के लिए लंबे समय से अंग्रेजी, गणित और संस्कृत के शिक्षक नहीं है। ऐसे में इन विषयों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। इसके अलावा विज्ञान विषय के लिए शिक्षिका नीलम मीना को नियुक्त किया गया है, लेकिन इस विषय के शिक्षण कार्य का लाभ छात्र-छात्राओं को नहीं मिल पा रहा है। प्रधानाध्यापक ने बताया कि शिक्षिका नीलम मीना ने 19 जून को स्कूल में ज्वाइन किया था, लेकिन इसके बाद से आज तक स्कूल में नहीं आई। पिछले साल का रिकॉर्ड देखा जाए तो रजिस्टर में एक साल में कुल चार दिन ही हस्ताक्षर किए गए हैं।

छात्रों ने बताया कि लंबे समय से स्कूल में शिक्षक लगाने की मांग की जा रही है, लेकिन कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा! कक्षा ग्यारहवीं और बारहवीं के छात्रों को पढ़ाने के लिए भी शिक्षकों की कमी बनी हुई है। स्कूल में शिक्षकों की कमी से प्रभावित हो रही पढ़ाई को लेकर नाराज छात्रों ने प्रार्थना से पहले ही ताला जड़ दिया। इस दौरान यहां ग्रामीण भी एकत्र हो गए। प्रधानाचार्य के अवकाश पर रहने के कारण कार्यवाहक प्रभारी अंजू शर्मा ने जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक को मामले से अवगत कराया और 25 जुलाई तक शिक्षकों की व्यवस्था करने का आश्वासन दिया।

इसके बाद ही छात्रों ने स्कूल का ताला खोला। छात्रों ने बताया कि यदि शिक्षकों की शीघ्र व्यवस्था नहीं हुई तो उन्हें आंदोलन के लिए मजबूर होना पड़ेगा। ग्रामीण बाबूलाल मीना सहित अन्यों ने बताया कि स्कूल में शिक्षक नियुक्त करने के लिए पूर्व में भी शिक्षा अधिकारियों को ज्ञापन दिया जा चुका है।

rakesh verma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned