स्कूल पर जड़ा ताला तो एपीओ हुए चार, भारजा नदी स्कूल में शिक्षकों के नदारद रहने का मामला...

गुस्साए छात्र-छात्राओं ने मुख्य द्वार पर ताला लगा दिया, अध्यापकों को एपीओ कर मुख्यालय जिला शिक्षा अधिकार कार्यालय करने के आदेश

By: Abhishek ojha

Published: 11 Sep 2017, 10:09 PM IST

भाड़ौती. अध्यापकों के लगातार नदारद रहने से गुस्साए विद्यार्थियों व अभिभावकों ने  राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय भारजा नदी के मुख्य द्वार पर ताला जड़ दिया। अभिभावकों का आरोप है कि विद्यालय में सात अध्यापक कार्यरत हैं, लेकिन शिक्षक आए दिन विद्यालय से नदारद रहते हैं। एक साथ पांच अध्यापक विद्यालय नहीं पहुंचे। इससे गुस्साए छात्र-छात्राओं ने मुख्य द्वार पर ताला लगा दिया। विद्यार्थियों के समर्थन में अभिभावक भी विद्यालय जा पहुंचे।

 

जहां शिक्षकों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने लगे। सूचना पर नायब तहसीलदार टीसी गुप्ता व ब्लॉक शिक्षा अधिकारी बौंली पल्लीवाल मीणा भी मौके पर पहुंच गए। जहां उन्होंने विद्यालय स्टाफ पर नियमानुसार कार्रवाई की बात कहते हुए ताला खोलने के लिए समझाइश की, लेकिन ग्रामीण पूरे स्टाफ पर कार्रवाई की जिद पर अड़े रहे। स्थिति बिगड़ते देख जिला शिक्षा अधिकार महेशकुमार शर्मा भी मौके पर पहुंचे। शर्मा ने मौके पर ही प्रधानाध्यापक सहित चार अध्यापकों को एपीओ कर मुख्यालय जिला शिक्षा अधिकार कार्यालय करने के आदेश जारी किए। तब दोपहर एक बजे ग्रामीणों ने विद्यालय का ताला खोला।

 

ये हुए एपीओ
जिला शिक्षा अधिकारी ने गुरुवार को मौके पर प्रधानाध्यापक मनमोहन स्वर्णकार, शिक्षक मगनलाल मीणा, प्रियंका गर्ग व हरीशचंद्र मीणा को एपीओ कर मुख्यालय जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय सवाईमाधोपुर किया।


दिनभर बैठ कर चले जाते हैं गुरुजी
राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय भारजा नदी में तालाबन्दी के दौरान प्रदर्शन कर रहे विद्यार्थियों ने बताया कि शिक्षकों में से अधिकतर गुरुजी स्कूल पहुंचते ही नहीं है, जो पहुंचते है वो बिना पढ़ाए दिनभर बैठ कर चले जाते हैं। अभिभावकों का आरोप है कि इस सम्बन्ध में पूर्व में कई बार शिकायतें भी की, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई।

 

 

 

आंदोलन की तैयारियों पर चर्चा
सवाईमाधोपुर. अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त महासंघ की जिला शाखा की बैठक रविवार को महावीर पार्क में हुई। इसमें 15 सूत्रीय मांगपत्र को लेकर 15 सितम्बर को कलक्टे्रेट पर होने वाले सत्याग्रह आंदोलन की तैयारियों पर चर्चा की गई। जिलाध्यक्ष लड्डूलाल लोधा ने बताया कि आंदोलन से पूर्व 15 सितम्बर को सुबह ग्यारह बजे सभी कार्मिक महावीर पार्क मेंं एकत्र होंगे और फिर कलक्ट्रेट तक रैली के रूप में पहुंचेंगे। इस दौरान जिला मंत्री पंचम भाटी, संरक्षक प्रभुलाल जाट, हरपाल सिंह, भूपेन्द्र सिंह, बजरंग सिंह, चन्द्रेश गुप्ता, हरकेश सैनी आदि मौजूद थे।

Abhishek ojha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned