क्षमा के बिना आत्मा का कोई मूल्य नहीं

क्षमा के बिना आत्मा का कोई मूल्य नहीं

By: Subhash

Published: 23 Aug 2020, 08:32 PM IST

सवाईमाधोपुर. सकल दिगंबर जैन समाज के तत्वावधान में रविवार को उत्तम क्षमा धर्म मनाने के साथ ही 10 दिवसीय पर्यूषण महापर्व का शुभारंभ हुआ। घरों में जिनालय जैसा वातावरण बनाया गया।
प्रवक्ता प्रवीण जैन ने बताया कि इस अवसर पर भक्तों ने घरों में नित्य नियम पूजन के साथ अष्टद्रव्यों से उत्तम क्षमा धर्म की निर्मल भक्ति पूर्वक पूजन कर 15 अघ्र्य समर्पित किए। पूजन के बाद द्वेष व कषायों को त्याग कर सभी से मैत्री रखने का संदेश दिया। इस अवसर पर दिगंबर जैन अतिशय क्षेत्र चमत्कार में ससंघ वर्षा योग कर रही आर्यिका विजितमति माता ने कहा कि क्रोध को जीतना उत्तम क्षमा है। क्षमा के बिना आत्मा का कोई मूल्य नहीं है। क्षमा को धारण करने से परमात्म पद की प्राप्ति होती है। क्षमा ह्रदय का आभूषण है। इसी क्रम में आर्यिका अंतसमति माताने कहा कि उत्तम क्षमा धर्म अंतरंग में व्यवहार का धर्म है। क्षमा के बिना मानव जीवन व्यर्थ है। क्षमा मानव जीवन की शोभा है। उन्होंने बताया कि सोमवार को उत्तम मार्दव धर्म मनाया जाएगा।

Subhash Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned