VIDEO बुकिंग विण्डो पर काम करने वाले कार्मिकों ने जमा नहीं कराई थी राशि

गलत जोन आवंटन का मामला वन विभाग की जांच में हुआ खुलासा

By: rakesh verma

Published: 04 Apr 2019, 11:11 AM IST

सवाईमाधोपुर. रणथम्भौर मेंं गत दिनों पार्क भ्रमण में जोन आवंटन को लेकर हुए फर्जीवाड़े में आखिकार वन विभाग मामले की जड़ तक पहुंच गया है। विभाग की जांच में 139 वाहन दूसरे जोन में पार्क भ्रमण करते पाए गए थे। इसके बाद रिकॉर्ड के मिलान में पता चला कि सभी पर्यटकों ने जोन चेंज कराने के लिए एक हजार रुपए की अतिरिक्त राशि की पर्ची कटवाई थी लेकिन यह राशि वन विभाग के पास जमा नहीं हुई थी।
1 लाख 39 हजार निकले बकाया
मामले की वन विभाग की ओर से जांच कीगई। जांच के दौरान विभाग ने रणथम्भौर राष्ट्रीय उद्यान के सभी एंट्री प्वाइंटों से वाहनों के प्रवेश के रिकॉर्ड को खंगाला साथ ही विभाग की ओर से वाहनों में लगे जीपीएस सिस्टम की रिपोर्ट भी मंगवाई गई है। साथ ही विभाग जोन चेंज के शुल्क की जांच की गई तो पता चला कि सभी वाहनों ने अतिरिक्त शुल्क देकर जोन चेंज कराया था लेकिन यह पैसा विभाग के पास जमा नहीं हुआ। ऐसे में विभाग के कुल 1 लाख 39 हजार एुपए बकाया निकले।
कार्मिकों ने जमा नही कराई राशि
जांच के दौरान विभाग ने यह भी जांव की कि कौनसे वाहन का जोन चेंज टिकट विण्डो पर काम करने वाले किस कार्मिक की ओर से किया गया है। इसके लिए जोन चेंज की पर्चियों को खंगाला गया। तो विण्डो के कार्यरत दो कार्मिकों के डाटा में कमी मिली। इसके बाद दोनों कार्मिकों ने मिलकर विभाग को बकाया 1 जाख 396 हजार की राशि जमा कराई।
यह था मामला
वन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार ऑनलाइन बुकिंग में निर्धरित वाहनों की संख्या के आधार पर ही वाहनों को जोन अलॉट किया जाता है। वहीं टिकट में जारी किए गए जोन में ही वाहनोंं को प्रवेश की अनुमति दी जाती है। अगर पर्यटक को अपने जोन में बदलाव कराना हँै तो इसके लिए पर्यटक को एक हजार रुपए अतिरिक्त शुल्क देना होगा। साथ ही जोन में वाहनों की संख्या भी पूरी नहीं होनी चाहिए। लेकिन वन विभाग को पूर्व में पर्यटकों को गलत जोन में भेजे जाने की शिकायत मिली थी।
इनका कहना है....
मामले की जांच के दौरान पायागया कि टिकट विण्डो पर कार्यरत दो कार्मिकों ने जोन चेंजकी राशि विभाग को जमा नहीं कराई थी इसके बाद रिकार्ड कार्मिकों को तलब कर स्पष्टीकरण मांगा तो कार्मिकों ने अपनी भूल स्वीकार कर राशि जमा करा दी गई है।
- सुरेन्द्र धाकड़, एसीएफ,रणथम्भौर बाघ परियोजना(पर्यटन), सवाईमाधेापुर।

rakesh verma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned