scriptThe previous government spent ten crores, but the present government d | पूर्ववर्ती सरकार ने दस करोड़ खर्चे, लेकिन वर्तमान सरकार ने तीन साल में नहीं दी फूटी कौड़ी | Patrika News

पूर्ववर्ती सरकार ने दस करोड़ खर्चे, लेकिन वर्तमान सरकार ने तीन साल में नहीं दी फूटी कौड़ी

होटल मैनेजमेंट कॉलेज निर्माण अटका: पूर्ववर्ती सरकार ने दस करोड़ खर्चे, लेकिन वर्तमान सरकार ने तीन साल में नहीं दी फूटी कौड़ी
रामसिंहपुरा गांव में बनकर तैयार, लेकिन कुछ काम नहीं होने से अटका
राज्य सरकार स्तर पर कई बार भेजे जा चुके प्रस्ताव

सवाई माधोपुर

Published: December 24, 2021 09:33:20 pm

होटल मैनेजमेंट कॉलेज निर्माण अटका: पूर्ववर्ती सरकार ने दस करोड़ खर्चे, लेकिन वर्तमान सरकार ने तीन साल में नहीं दी फूटी कौड़ी
रामसिंहपुरा गांव में बनकर तैयार, लेकिन कुछ काम नहीं होने से अटका
राज्य सरकार स्तर पर कई बार भेजे जा चुके प्रस्ताव
राकेश वर्मा
सवाईमाधोपुर. राज्य सरकार अपने कार्यकाल के तीन साल पूरे होने पर विकास कार्यों का ढिंढोरा पीट रही है, लेकिन सरकार जिला मुख्यालय पर रामसिंहपुरा गांव में निर्माणाधीन 'इंस्ट्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंटÓ भवन के लिए बजट तक जारी नहीं कर सकी है। इसे सरकार की अदूरदर्शिता कहें या दलगत राजनीति, जो भी हो यहां के बेरोजगार युवाओं को इस संस्थान का फायदा नहीं मिल पा रहा है। जबकि अब तक निर्माण पर करीब दस करोड़ रुपए खर्च किए जा चुके हैं। रणथम्भौर राष्ट्रीय उद्यान के चलते सवाईमाधोपुर पर्यटन की दृष्टि से अपार संभावनाओं से भरा हुआ है, ऐसे में इंस्ट्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट चालू होता है तो ना केवल होटलों में स्थानीय युवाओं को रोजगार मिलेगा, बल्कि आसपास के क्षेत्र का विकास भी होगा। इस कॉलेज में विद्यार्थियों के तीन साल के डिप्लोमा कोर्स की सुविधा मिल सकेगी।
2016 में हुआ था निर्माण शुरू
इंस्ट्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट कॉलेज पूर्ववर्ती भाजपा सरकार के समय 2016 में स्वीकृत हुआ था। इसके बाद निर्माण के लिए 9 करोड़ 8 लाख रुपए का बजट राज्य सरकार की ओर से जारी किया गया। इसके बाद त्वरित गति से इसका काम चला। वहीं 2018 तक इस पर 10 करोड़ 65 लाख रुपए का काम संबंधित एंजेंसी की ओर से किया जा चुका है।
वर्तमान सरकार ने नहीं दी कोई राशि
पर्यटन विभाग के अधिकारियों की माने तो पिछले तीन साल में राज्य सरकार को बजट की मांग के लिए प्रस्ताव भेजे गए हैं, लेकिन बजट स्वीकृत नहीं हुआ है। ऐसे में जब तक भवन का पूरा निर्माण नहीं होगा, तब तक इसका संचालन संभव नहीं है।
पूर्ववर्ती सरकार ने दस करोड़ खर्चे, लेकिन वर्तमान सरकार ने तीन साल में नहीं दी फूटी कौड़ी
पूर्ववर्ती सरकार ने दस करोड़ खर्चे, लेकिन वर्तमान सरकार ने तीन साल में नहीं दी फूटी कौड़ी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

पंजाबः अवैध खनन मामले में ईडी के ताबड़तोड़ छापे, सीएम चन्नी के भतीजे के ठिकानों पर दबिशPunjab Assembly Election 2022: पंजाब में भगवंत मान होंगे 'आप' का सीएम चेहरा, 93.3 फीसदी लोगों ने बताया अपनी पसंदUttarakhand Election 2022: हरक सिंह रावत को लेकर कांग्रेस में विवाद, हरीश रावत ने आलाकमान के सामने जताया विरोधUP Election 2022 : अखिलेश के अन्न संकल्प के बाद भाकियू अध्‍यक्ष का यू टर्न, फिर किया सपा-रालोद गठबंधन के समर्थन का ऐलानखतरनाक हुई तीसरी लहर, जांच में हर पांचवां व्यक्ति कोरोना संक्रमितIndian Railways: स्टेशन पर थूकने वाले हो जाएं सावधान, रेलवे में तैयार किया ये खास प्लानभीषण लपटों से भी नहीं डरे ग्रामीण, अपनी जान पर खेलकर पड़ौसी को बचाया, Videoमशहूर कार्टूनिस्ट नारायण देबनाथ का निधन, सीएम ममता बनर्जी ने जताया शोक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.