ट्यूबवैल खुदे तो मिले माधोसिंहपुरा को 'संजीवनी',जलदाय विभाग मौन, गांव में गहराया जल संकट

शहरी आबादी के गले तर करने वाले जल कुबेर माधोसिंहपुरा गांव को अब खुद ही संजीवनी की दरकार...

By: Shubham Mittal

Published: 25 Apr 2018, 08:34 PM IST

सवाईमाधोपुर. जिला मुख्यालय की शहरी आबादी के गले तर करने वाले जल कुबेर माधोसिंहपुरा गांव को अब खुद ही संजीवनी की दरकार है। माधोसिंहपुरा में यूं तो करीब छह ट्यूबवैल है, लेकिन अब आधे से अधिक ट्यूबवैल सूख कर महज शोपीस बन गए हैं। ऐसे में लोगों को पर्याप्त जलापूर्ति नहीं हो पा रही है।


पूर्व में लगा था अड़ंगा
जलदाय विभाग की ओर से माधोसिंहपुरा में नया ट्यूबवैल खोदने के प्रयास किए गए थे। लेकिन भूजल विभाग व वन विभाग की ओर से स्वीकृति नहीं मिलने के कारण इसमें अड़ंगा लग गया था। ऐसे में अब तक लोगों को पानी नहीं मिल पा रहा है।


लोग कर रहे विरोध : विभाग की ओर से माधोसिंहपुरा में संचालित तीन ट्यूबवैलों से शहरी क्षेत्र में जलापूर्ति की जा रही है। इन ट्यूबवैलों से ग्रामीणों को पानी नहीं दिया जा रहा है, लेकिन विभाग जो नया ट्यूबवैल कराने जा रहा है, उससे दोनों ही क्षेत्रों में आपूर्ति करने की बात कर रहा है। ऐसे में लोगों में रोष है।

पेयजल संकट को दूर करने की मांग
सवाईमाधोपुर. एआईएफ की जिला शाखा के कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपकर मकसूदन पुरा की बैरवा बस्ती में लोगों को पेयजल संकट से निजात दिलाने की मांग की है। अध्यक्ष लोकेश कुमार बैरवा ने बताया कि बैरवा बस्ती में महज एक हैण्डपंप होने से लोगों को परेशानी हो रही है। इस दौरान राकेश, राजेन्द्र आदि मौजूद थे।

एक ट्यूबवैल की मिली एनओसी
विभाग को माधोसिंह पुरा में एक नया ट्यूबवैल लगाने की एनओसी जारी कर दी गई है, लेकिन इसके बाद भी अब तक माधोसिंहपुरा में ट्य़ूबवैल नहीं लगाया जा रहा है। इससे लोग जल संकट से जूझ रहे हैं।


इनका कहना है...
एक नया ट्यूबवैल कराने की अनुमति मिल गई है। जल्द ही बोरिंग कराकर उससे जल आपूर्ति की जाएगी।
किरोड़ीलाल मीणा, अधिशाषी अभियंता, जलदाय विभाग, सवाईमाधोपुर।

Shubham Mittal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned