रणथम्भौर में आपस में भिड़े दो बाघ, दोनों की हुई मौत

rohit sharma

Publish: Apr, 17 2018 10:50:25 PM (IST)

Sawai Madhopur, Rajasthan, India
रणथम्भौर में आपस में भिड़े दो बाघ, दोनों की हुई मौत

रणथम्भौर में आपस में भिड़े दो बाघ, दोनों की हुई मौत

सवाईमाधोपुर।

रणथम्भौर बाघ परियोजना की सवाईमान सिंह सेंचुरी में मंगलवार को आपसी संघर्ष में दो बाघों की मौत हो गई। बाघों की मौत का पता शाम को इलाके के वनकर्मियों को चला। बाघ परियोजना के सीसीएफ वाईके साहू ने बताया कि बाघ की मौत प्रथम दृष्टया संघर्ष में होना सामने आया है। दोनों बाघ सवाईमान सिंह सेंचुरी के आवण्ड इलाके में आ गए थे। इस दौरान उनके बीच दोपहर को संघर्ष हुआ। उनके संघर्ष की आवाजें वनकर्मियों ने भी सुनी। दोनों टाइगर बेदह आक्रमक थे। हालांकि शाम को इलाके में गश्त पर निकले वनकर्मियों को उनके शव मिले। इसके बाद वनाधिकारी मौके के लिए रात सवा आठ बजे रवाना हुए। रात तक उनके शवों को जंगल से लाने में वनाधिकारी जुटे थे। वनाधिकारियों ने ये स्पष्ट नहीं किया कि मृत बाघों के नाम क्या थे। उनका कहना था कि उनकी पहचान के बाद ही उनका नम्बर व नाम स्पष्ट हो सकेगा।

रणथम्भौर में एक माह में तीन टाइगर की मौत

रणथम्भौर में पिछले एक माह के आंकडों पर नजर डालें तो एक माह में तीन बाघों की मौत हो चुकी है। बीस मार्च को बाघ टी-२८ की मौत हुई थी। इसके बाद अब सवाईमानसिंह सेंचुरी इलाके में दो बाघों की मौत हो गई।

टरेट्री को लेकर झगड़ा

रणथम्भौर में वर्तमान में 65 टाइगर थे। इनमें 20 नर, 25 मादा व 20 शावक थे। दो बाघों की मौत के बाद अब ६३ बाघ ही रह गए हैं। पिछले एक माह में तीनों मेल टाइगर ही मृत हुए हैं। वनाधिकारियों का कहना है कि रणथम्भौर में करीब 1392 वर्गकिलोमीट एरिया है, लेकिन बाघों की संख्या के हिसाब से ये काफी कम पड़ता है। ऐसे में उनके बीच संघर्ष होना स्वभाविक है।

READ : राजस्थान सरकार के मंत्री राजेंद्र राठौड़ ने विधायक जिग्नेश मेवाणी को दी ये बड़ी चेतावनी, कहा - राजस्थान आए तो फिर

READ : राजस्थान सरकार ने दी किसानों को बड़ी सौगात, 25 लाख से अधिक किसानों को होगा ये बड़ा फ़ायदा

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned