जिले में तीन स्थानों पर होगा वैक्सीन का मॉकड्रिल

जिले में तीन स्थानों पर होगा वैक्सीन का मॉकड्रिल

By: Subhash

Published: 06 Jan 2021, 08:48 PM IST

सवाईमाधोपुर.कोरोना वैक्सीन की तैयारियों को लेकर चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से मुस्तैद है। जिले में आठ जनवरी को तीन स्थानों पर वैक्सीन का पूर्वाभ्यास होगा। इसमें शहर जिला अस्पताल, मलारना सीएचसी व हिंगोटिया पीएचसी पर वैक्सीन का मॉकड्रिल होगा। इसमें जिला प्रशासन की ओर से एक व्यक्ति को वैक्सीन लगाने में कितने समय लगेगा सहित अन्य तैयारियों को परखा जाएगा। इधर, कोरोना वैक्सीन मॉडड्रिल को लेकर जिला कलक्टर ने बुधवार को जिला कलक्ट्रेट सभागार में पत्रकार वार्ता की। इसमें सीएमएचओ डॉ.तेजराम मीणा, जिला कलक्टर राजेन्द्र किशन ने वैक्सीन के संबंध में जानकारी दी। इस अवसर पर आरसीएचओ डॉ.कमलेश मीना एवं मीडियाकमी मौजूद थे।
सुबह दस से दोपहर एक बजे तक होगा मॉक ड्रिल
जिले में चिह्नित स्थानों पर मॉक ड्रिल सुबह 10 बजे से दोपहर 1 बजे तक होगा। कोविड-19 वैक्सीन सम्बंधी जिला टास्क फोर्स की बैठक के बाद बुधवार को जिला कलक्टर पत्रकार वार्ता में यह जानकारी दी। कलक्टर ने बताया कि सम्बंधित अधिकारियों को प्रशिक्षण एवं निर्देश दिए है। उन्होंने बताया कि मॉक ड्रिल टीकाकरण की तैयारियों का अभ्यास हैं। इसके माध्यम से वास्तविक टीककारण की संभावित कठिनाईयों को पहचान कर उनमें सुधार किया जा सकेगा।
कोविन एप से एसएमएस से मिलेगी सूचना
प्रत्येक स्थान पर 25-25 लोगों पर वैक्सीन लगाए जाने का रिहर्सल होगा। मॉक ड्रिल में लाभार्थी के लिए तैयार किए जा रहे टीकाकरण कक्ष व निगरानी कक्ष में मानक और एडवाईजरी की पालना जरूरी होगी। 8 जनवरी को कोविड वैक्सीन लगाने का रिहर्सल (ड्राई रन) होगा। लाभार्थी को कोविन एप के माध्यम से मोबाइल पर एसएमएस कर सूचना भेजी जाएगी।
वेक्सीनेशन केन्द्र पर होंके तीन कक्ष
वेक्सीनेषन केन्द्र पर तीन कक्ष होंगे। पहले कक्ष को वेटिंग कम पंजीयन रूम के रूप में काम लिया जाएगा। यहां लाभार्थी के पहचान दस्तावेजों का वैक्सीनेशन आफिसर से सत्यापन, थर्मल स्कैनर से तापमान से लिया जाएगा। मोबाइल में कोविन साफ्टवेयर पर लाभार्थी को प्रमाणित कर वैक्सीनेशन के लिए टीकाकरण कक्ष में भेजा जाएगा। यहां वैक्सीनेटर ऑफिसर से टीकाकरण की प्रक्रिया(डेमो) को पूर्ण कर कोविन सॉफ्टवेयर में लाभार्थी के टीके लगाये जाने की एन्ट्री होगी। तीसरा कक्ष आब्जर्वेशन का होगा, जहां लाभार्थी को 30 मिनिट के लिए निगरानी कक्ष में वैक्सीनेशन आफिसर की निगरानी में रखा जाएगा। इस ड्राई रन की प्रक्रिया के दौरान एक लाभार्थी को टीका लगाने में लगने वाले समय एवं कोविन सॉफ्टवेयर में एन्ट्री करने में लगे समय का आकलन व साफ्टवेयर के संचालन की प्रक्रिया को जांचा जाएगा।

जिले में वैक्सीन को लेकर आंकड़े...
-जिले में तीन चरणों में कुल 2 लाख 67 हजार 311 व्यक्तियों के लगेगा टीका।
-जिले में पहले चरण में 7311 स्वास्थ्यकर्मियों को लगेगा टीका।
-दूसरे चरण में 10 हजार अधिकारी-कर्मचारी, जिनमें पुलिस प्रशासन, नगरपरिषद अधिकारी-कर्मचारी शामिल होंगे।
-तीसरे चरण में 50 वर्ष से अधिक लोगों के टीके लगेगा। जिले में इनकी संख्या ढाई लाख है।
-प्रत्येक लाभार्थी को पहले टीके के 1 माह बाद दूसरा टीका लगेगा।
- जिले में प्रथम चरण में 57 स्थानों पर 77 वैक्सीन सेशन होंगे।
-एक सेशन में 100 लोगों के लगेगा टीका।
- जिले में वैक्सीनेशन के लिए 42 कोल्ड चैन प्वाइंट बनाए है।
- जिले में एक साथ 10 लाख कोविड टीकों के भण्डारण की क्षमता।
- जिले में जिला अस्पताल, मलारना व हिंगोटियों में होगा मॉक ड्रिल।

Subhash Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned