ग्रामीणों ने मोरासागर रोड पर लगाया जाम

बामनवास (गंगापुरसिटी) . कथित रूप से गलत आंकड़ों के आधार पर टोडा की बजाय टूंडीला को नवीन ग्राम पंचायत का दर्जा दे दिए जाने से क्षुब्ध टोडा-बानोर गांव के ग्रामीणों ने बुधवार दोपहर मोरासागर सडक़ मार्ग पर अवरोधक लगाकर जाम लगा दिया। इससे वाहनों की आवाजाही ठप हो गई।

बामनवास (गंगापुरसिटी) . कथित रूप से गलत आंकड़ों के आधार पर टोडा की बजाय टूंडीला को नवीन ग्राम पंचायत का दर्जा दे दिए जाने से क्षुब्ध टोडा-बानोर गांव के ग्रामीणों ने बुधवार दोपहर मोरासागर सडक़ मार्ग पर अवरोधक लगाकर जाम लगा दिया। इससे वाहनों की आवाजाही ठप हो गई।


मोरासागर बांध पर होकर सवाईमाधोपुर के अलावा दौसा तथा करौली जिले के कई गांवों के साधन निकलते हैं। यह स्थान तीन जिलों की सीमा पर है। ऐसे में यहां वाहनों की आवाजाही अधिक रहती है। जाम की वजह से वाहन चालकों को परेशानी हुई। गौरतलब है कि दोनों गांवों के लोगों ने मंगलवार को एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर टोडा को पंचायत बनाने की दिशा में कार्रवाई नहीं किए जाने पर बुधवार से सडक़ जाम की चेतावनी संबंधी ज्ञापन दिया था।

प्रशासन की तरफ से कोई कार्रवाई न होते देख ग्रामीणों ने दोपहर को सडक़ मार्ग जाम कर दिया। सूचना मिलते ही नायब तहसीलदार मदनलाल मीना एवं पुलिस थाना प्रभारी नरेश कुमार मीना मौके पर पहुंचे। उन्होंने जाम खोलने के लिए समझाइश की, लेकिन ग्रामीण मांग मंजूर नहीं होने तक जाम न खोलने की बात पर अड़े रहे। उन्होंने सडक़ किनारे ही तंबू लगाकर अलाव सेकना शुरू कर दिया। दूसरी ओर क्षेत्र की प्रमुख बानोर जल परियोजना के भी ठप किए जाने के समाचार हैं। बानोर से उपखण्ड क्षेत्र के करीब १८ गांवों को जलदाय विभाग द्वारा जलापूर्ति की जाती है।

स्थानीय ग्रामीणों ने जल परियोजना के प्लांट पर पहुंचकर जल दोहन का कार्य बंद करा दिया। जलदाय विभाग के सहायक अभियंता विजय सिंह मीना ने लोगों से जल परियोजना के संचालन के लिए खूब समझाइश की, लेकिन वे मानने को तैयार नहीं हुए। समाचार लिखे जाने तक पुलिस प्रशासन एवं जलदाय विभाग के अधिकारी मौके पर डटे रहे।


विधायक के प्रति जताया रोष


मौके पर एकत्रित महिला-पुरुषों ने टोडा की बजाय टूंडीला को ग्राम पंचायत बनवाने में विधायक की भूमिका होने पर उनके प्रति रोष जताया। ग्रामीणों का आरोप था कि विधायक के इशारे पर अधिकारियों द्वारा टोडा-टूंडीला की जनसंख्या के आंकड़ों में हेर-फेर कर सरकार को भी गलत रिपोर्ट प्रस्तुत की गई। जनसंख्या के हिसाब से टोडा का ही ग्राम पंचायत बनना तय था।


आज बाधित रह सकती है जलापूर्ति


बानोर जल परियोजना में पानी का प्रोडक्शन बंद करा देने से गुरुवार को उपखण्ड मुख्यालय की जलापूर्ति प्रभावित रह सकती है। जलदाय विभाग के सहायक अभियंता विजय सिंह मीना ने बताया कि परियोजना के दो ट्यूबवैल बानोर गांव में हैं तथा दो ट्यूबवैल गुर्जर कोलेता सडक़ मार्ग पर है। ग्रामीणों द्वारा इन दोनों जगहों का रास्ता रोक रखा है। इससे पानी के प्रोडक्शन में परेशानी आ रही है। संभवतया गुरुवार सुबह जलापूर्ति व्यवस्था बाधित रह सकती है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned