चंबल के किनारे वाले गांवों का खाली होना शुरू, चंबल खतरे के निशान से ऊपर

Vijay Kumar Joliya

Updated: 15 Sep 2019, 06:57:43 PM (IST)

Sawai Madhopur, Sawai Madhopur, Rajasthan, India

सवाई माधोपुर. जिला कलेक्टर डॉ. एस.पी.सिंह का खंडार तहसील क्षेत्र में चंबल नदी के किनारे बसे गांवों का दौरा रविवार को भी जारी रहा। चंबल में लगातार बढ़ रहे जल स्तर पर जिला कलेक्टर ने स्वयं निगाह रखते हुए आपातकालीन स्थिति में सभी आवश्यक तैयारियां मुस्तैदी से पूरी करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। प्रशासनिक अमले के साथ ही एसडीआरएफ की तीन टीमें और सिविल डिफेंस की एक टीम मौके पर मौजूद है तथा लोगों को चंबल नदी के डूब क्षेत्र में आ रहे गांवों से सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है। एहतियातन एवं सतर्कता बरतते हुए सेना की दो टुकड़ियों को सवाई माधोपुर बुलवाया गया है। जिला कलेक्ट्रेट कार्यालय में 07462-220201 नंबर पर नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है। कलक्टर की समझाइश पर चंबल किनारे बसे लहसोडा पंचायत के सेवती कलां, एवं अजीतपुरा तथा खंडार क्षेत्र के सेवती खुर्द, धर्मपुरी, पाली, पाली, मीनाखेडी, सोनकच्छ, बोहना, बिणजारी आदि गांवों को खाली करवाकर लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुुंचाया जा रहा है।

जिला कलेक्टर ने बताया कि सवाई माधोपुर में चम्बल नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। समाचार लिखे जाने तक शाम पांच बजे तक चंबल का गेज 200.05 मीटर पर था। चंबल में पार्वती, परवन, कालीसिंध नदी एवं कोटा बेराज क्षेत्र से लगातार पानी की आवक हो रही है। कलेक्टर ने लोगों से कहा कि पानी की आवक बहुत अधिक है इसकी गम्भीरता समझते हुए सुरक्षित स्थानों पर पहुंचे। उन्होंने ग्रामीणों को समझाया कि वे स्वयं तथा सभी राजस्व अधिकारी पिछले तीन दिन से फील्ड में हैं और लगातार लोगों की समझाइश कर रहे हैं कि वे निचले स्थान छोड़कर सुरक्षित स्थानों पर चले जाएं।


उन्होंने बताया कि सेवती कलां, अजीतपुरा आदि के लिए राउमावि लहसोडा में लोगों के रहने एवं खाने-पीने की व्यवस्था की गई है। इसी प्रकार सेवती खुर्द, धर्मपुरी, पाली, मीनाखेडी, सोनकच्छ, बोहना, बिंजारी सहित अन्य प्रभावित गांवों के लिए बहरावंडा खुर्द एवं खंडार में व्यवस्थाएं की गई है। और ऐहतियात के तौर पर सेना की दो टुकड़ियां सवाई माधोपुर बुलाई गई है। एसडीआरएफ की तीन टीमें और सिविल डिफेंस की एक टीम यहां पहले से लगातार कार्य कर रही है। एनडीआरएफ की टीम भी सवाई माधोपुर पहुंची है।


कलेक्टर डॉ. सिंह रविवार सुबह लहसोडा पंचायत के सेवती कलां गांव में पहुंचे। गांव के चारों ओर पानी से घिर जाने पर वहां के लोगों को एफडीआरएफ एवं सिविल डिफेंस की टीम के माध्यम से एसडीएम रघुनाथ ने मौके पर उपस्थित रहकर सुरक्षित निकलवाया तथा लहसोडा पहुंचाया। इसके बाद कलेक्टर डॉ. सिंह अजीतपुरा गांव पहुंचे और लोगों की समझाइश की। उन्होंने बताया कि आस पास के गांवों में प्रभावित लोगों के लिए लहसोड़ा स्कूल में प्रशासन की ओर से सभी आवश्यक इंतजाम किए गए हैं। कलेक्टर सेवती खुर्द, धर्मपुरी, पाली आदि गांवों में गए और उन्होंने ग्रामीणों को सुरक्षित स्थानों पर जाने की सलाह दी। उन्होंने बताया कि बहरावंडा खुर्द गांव के स्कूल में प्रभावित लोगों के रहने और खाने पीने की व्यवस्था की गई है। जिला कलेक्टर के साथ अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक धर्मेन्द्र यादव ने भी लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचने के लिए समझाया। प्रभावित गांवों से लोगों को निकालने तथा सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस बल को भी नियुक्त किया गया है।



जिला कलेक्टर ने जल संसाधन विभाग के अधिकारियों को प्रत्येक दो घंटे में चंबल के जल स्तर की जानकारी कलेक्ट्रेट कार्यालय में पहुंचाने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी अधिकारियों से समय पर पूरी सूचना रखते हुए टीम भावना के साथ काम करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने मौके पर मौजूद उपखंड अधिकारी खंडार रतनलाल अटल, तहसीलदार, गिरदावर, पुलिस व अन्य अधिकारी, कर्मचारियों को आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned