scriptWater is everywhere due to rain, life is disturbed | बारिश से चहुंओर पानी ही पानी, जन जीवन अस्त-व्यस्त | Patrika News

बारिश से चहुंओर पानी ही पानी, जन जीवन अस्त-व्यस्त

बारिश से चहुंओर पानी ही पानी, जन जीवन अस्त-व्यस्त

सवाई माधोपुर

Published: August 04, 2021 08:51:58 pm

सवाईमाधोपुर.श्रावण मास में जिले सहित अन्य जगहों पर मेघ पूरी तरह मेहरबान है। लगातार बारिश के चलते हालात बिगड़ते नजर आ रहे है। शहर, गांव व कस्बे की मुख्य सड़कें पानी से लबालब हो गई है। जिले में बारिश के चलते कई कच्चे महान ढह गए तो कई जगहों पर घरों में पानी भर गया है। इससे लोगों को परेशानी हो रही है। बारिश के चलते आमजन जहां अस्त-व्यस्त है वहीं सब जगह पानी पानी हो गया। जिले में बीते 33 घंटे में 1016 एमएम बारिश दर्ज की गई है।
जिले के नौ बांधों में चल रही चादर
जिले में भारी बारिश से जल संसाधन विभाग के अधीन संचालित नौ बांधों में वर्तमान में चादर चल रही है। देवपुरा, भगवतगढ़ व मुई में 3-3 फीट व ढील बांध में 2 फीट 6 इंच व मानसरोवर बांध में 2 फीट की चादर चल रही है। इसके अलावा सूरवाल व पांचालोस में 1 फीट 9 इंच एवं गिलाई सागर, नागोलाव में 1-1 की चादर चल रही है।
देवपुरा में सर्वाधिक बारिश दर्ज
जिले में बीते 33 घंटे में देवपुरा में सर्वाधिक 221 एमएम बारिश दर्ज की है। वहीं बुधवार सुबह आठ से शाम पांच बजे तक कुल 16 एमएम बारिश हुई है। इसके बाद पांचोलास 180, सवाईमाधोपुर मानटाउन 131 व तहसील में 110 एमएम बारिश दर्ज की गई है। बारिश से क्षेत्र में खेत-खलिहानों में भी पानी ही पानी हो गया है।
कलक्ट्रेट परिसर के पानी को इंजन चलाकर बाहर निकाला
बारिश से जिला मुख्यालय पर भी हालात बिगड़ रहे है। शहर की कई कॉलोनी व कच्चो मकानों में पानी भर गया है। ऐसे में लोग दिनभर पानी को बाहर निकालने में जुटे है। उधर, तेज बरसात से कलक्ट्रेट परिसर में पानी भर गया। ऐसे में बुधवार को कर्मचारियों इंजन लगाकर बरसात के पानी को बाहर निकाला।
कुस्तला में जनजीवन अस्त-व्यस्त
कोटा लालसोट मेगा हाईवे पर कुस्तला में भारी बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त है। यहां भगत सिंह सर्किल व मीणाओं की ढाणी, हरिजन बस्ती, शर्मा भोजनालय चौराहा पर पानी का तेज गति से बहाव हो रहा है। इसी प्रकार टोंक बाईपास पर घरों में पानी भर गया। शर्मा भोजनालय के पास नाले में अधिक पानी आने से नाले के उस पार बिजली जीएसएस और बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय, पशु चिकित्सालय पर आना जाना बंद हो गया है। इसी प्रकार कुस्तला क्षेत्र के एक दर्जन गांव की बिजली सप्लाई बाधित हो गई है। बिजली निगम के कनिष्ठ अभियंता राम लखन जाट ने बताया कि कुस्तला क्षेत्र में हुई अतिवृष्टि के चलते बिजली के एक दर्जन से अधिक विद्युत पोल गिर गए है। इससे आसपास के क्षेत्रों की भी बिजली गुल हो गई। इसके बाद कार्मिकों ने अपनी जान को जोखिम में डालकर 4 से 5 फीट पानी में उतर कर भी बिजली के पोल को खड़ा किया। कुस्तला की ढाणी सिवाय गंज, मुई आदि क्षेत्रों में बिजली कार्मिक बरसात के बीच कार्य में जुटे रहे।
बारिश से चहुंओर पानी ही पानी, जन जीवन अस्त-व्यस्त
सवाईमाधोपुर. जिला कलक्ट्रेट परिसर में भरे पानी को इंजन चलाकर बाहर निकालते कर्मचारी।
जिले में बीते 33 घंटे में बारिश के आंकड़े...
स्टेशन बारिश
बामनवास 7
भाड़ौती 50
बौंली 13
चौथकाबरवाड़ा 33
देवपुरा 221
ढील बांध 88
गंगापुरसिटी 14
खण्डार 49
मलारना डूंगर 25
मानसरोवर 85
मोरासागर 4
पांचोलास 180
सवाईमाधोपुर मानटाउन 131
सवाईमाधोपुर तहसील 110
वजीरपुर 6
कुल 1016

जिले में बांधों में पानी की आवक...
बांध भराव क्षमता बांधों में चादर
ढील 16 फीट 2 फीट 6 इंच
मानसरोवर 31 फीट 2 इंच
गिलाई सागर 20 फीट 1 फीट
सूरवाल 15 फीट 1 फीट 9 इंच
देवपुरा 24 फीट 3 फीट
भगवतगढ़ 8 फीट 3 इंच
पांचोलास 12.25 फीट 1 फीट 9 इंच
मुई 6 फीट 3 फीट
नागोलाव 10 फीट 1 फीट

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

कोरोना: शनिवार रात्री से शुरू हुआ 30 घंटे का जन अनुशासन कफ्र्यूशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेCM गहलोत ने लापरवाही करने वालों को चेताया, ओमिक्रॉन को हल्के में नहीं लें2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.