दुनिया की एक ऐसी जगह जहां महज 40 मिनट की होती है रात, जानिए क्या है वजह!

दुनिया में एक ऐसी जगह है, जहां रात 12 बजकर 43 मिनट पर सूरज छिपता (The Midnight Sun in Norway) है और महज 40 मिनट के अंतराल पर फिर से उग आता है

By: Pratibha Tripathi

Published: 22 Jan 2021, 09:23 PM IST

नई दिल्ली: हमारी दुनिया में कई जगह ऐसी है जो अजीबोगरीब रहस्यो से भरी पड़ी है। जहां पर कुछ ना कुछ ऐसी चीजें घटित होती है जो हैरान कर जाती है जिस तरह से एक जगह ऐसी है जहां पर दिन काफी बड़ा और रात महज 40 मिनिट की होती है। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि इस जगह पर सूर्य शाम को नही बल्कि रात के 12 बजकर 43 मिनट पर (The Midnight Sun in Norway) ढलता है और महज 40 मिनट के बाद फिर से निकल आता है।

कंट्री ऑफ मिडनाइट सन
यह हैरान करने वाला नजारा नार्वे (Northern Norway, Country Of Midnight Sun) में देखने को मिलता है। जहां पर दिन बड़ा और रात महज कुछ मिनिट की होती है। इस जगह पर रात करीब डेढ़ बजे से चिड़िया चहचहाने लगती हैं। लेकिन इस तरह का सिलसिला रोज नही बल्कि साल में करीब ढाई महीने तक चलता है. इसलिए इसे 'कंट्री ऑफ मिडनाइट सन' कहा जाता है। जानिए इस अद्भुत घटना (Mystery Of Midnight Sun) के बारे में.

76 दिनों तक नहीं होता सूर्यास्त अपनी खूबसूरती के लिए विश्व विख्यात है यह

नॉर्वे दुनिया के सबसे अमीर मुल्कों में शुमार है। यहां के लोग अपने स्वास्थ्य के प्रति काफी सजग होते हैं। लेकिन इन विशेषताओं के बीच नॉर्वे (The Light At Midnight) की सबसे बड़ी खूबी है उसकी प्राकृतिक सुंदरता. आपको बात दें कि यह देश आर्कटिक सर्कल (Arctic Circle) के अंदर आता है. मई से जुलाई के बीच करीब 76 दिनों तक यहां सूरज अस्त नहीं होता।

आखिर क्यों होती है 40 मिनट की रात ?
40 मिनट की रात होने के पीछे की सबसे बड़ी वजह खगोलीय घटना (Mystery Of Midnight Sun) है। जिसके चलते 21 जून और 22 दिसंबर को सूरज की रोशनी धरती तक नही आ पाती। दरअसल पृथ्वी 66 डिग्री का एंगल बनाते हुए घूमती है।इसी झुकाव की वजह से दिन और रात के समय में अंतर आता है। नॉर्वे में 40 मिनट की रात 21 जून वाली स्थिति से होती है।

Pratibha Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned