9 साल बाद आज चांद से भी ज्यादा करीब नजर आएगा यह क्षुद्रग्रह

2011 में इसे पहली बार खोजा गया था, प्रत्येक नौ साल बाद पृथ्वी के बेूहद करीब से गुजरता है यह क्षुद्रग्रह

By: Mohmad Imran

Published: 01 Sep 2020, 01:06 PM IST

अमरीकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने साल 2011 में एक ऐसा क्षुद्रग्रह खोजा था जो प्रत्येक नौ साल के अंतराल पर पृथ्ची की कक्षा के बेहद करीब से होकर गुजरता है। वैज्ञानिकों ने इसका नाम '2011 ES4' रखा है। पिछली बार यह पृथ्वी की कक्षा के इतने नजदीक पहुंच गया था कि इसे खुली आंखों से चार दिनों तक देखा जा सकता था।

आज नजर आएगा ES4
मंगलवार को 20 मीटर चौड़ा यह क्षुद्रग्रह एक बार फिर पृथ्वी के बेहद करीब से होकर गुजरेगा। वैज्ञानिकों का कहना है कि यह इस बार इतनी पास आ जाएगा कि यह चांद से भी ज्यादा करीब नजर आएगा। इस बार क्षुद्रग्रह की पृथ्वी से दूरी 1.2 लाख किमी होगी जबकि चांद और पृथ्वी के बीच की दूरी 3.84 लाख किमी है। हालांकि इतनी पास आने के बावजूद इस उल्कापिंड के पृथ्वी से टकराने का आशंका न के बराबर है। यह उल्कापिंड 29,367 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से पृथ्वी की ओर आ रहा है।

9 साल बाद आज चांद से भी ज्यादा करीब नजर आएगा यह क्षुद्रग्रह

उल्कापिंडों का रोचक इतिहास
यह कोई पहला उल्कापिंड-क्षुद्रग्रह नहीं है जो पृथ्वी के इतने करीब होकर गुजरेगा। कुछ साल पहले '2008 DB' नाम का उल्कापिंड भी हमारे ग्रह के करीब से गुजरा था जो अब 2032 में वापस लौटेगा। ऐसे ही '2018VP1' नाम का उल्कापिंड 2 नवंबर को पृथ्वी की कक्षा को छूकर गुजरेगा जिसके पृथ्वी से टकराने की0.41% आशंका है। हालांकि आकार में छोटा होने के कारण यह वायु़मंडल में प्रवेश करने के बाद नष्ट हो जाएगा। वहीं जुलाई में NEO WISE नाम का धूमकेतु भी चर्चा का विषय रहा क्योंकि अब यह करीब 6000 साल बाद पृथ्वी के करीब आएगा। एक और धूमकेतु HELL-BOPP पिछली बार 1997 में नजर आया था। पृथ्वी की ओर आने वाले ऐसे ही कुछ और अंतरिक्ष पिंडों में 'ATLAS' और 'SWAN' भी शामिल हैं।

Show More
Mohmad Imran
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned