डिजिटल मैप: गूगल जैसी इस नई ऐप से आप 75 लाख साल पहले अपना पता ढूंढ सकते हैं

'द एंसिएंट अर्थ' नाम का यह ऐप अपने ग्लोब वेबसाइट सॉफ्टवेयर की मदद से उस समय में ले जाता है जब हमारा देश अपने वर्तमान महाद्वीप या स्थान पर मौजूद नहीं था।

By: Mohmad Imran

Published: 04 Sep 2020, 06:57 PM IST

गूगल मैप (Google Map) के जैसा एक नया ऐप इन दिनों सोशल मीडिया (Social Media) पर जबरदस्त वायरल हो रहा है। यूजर सोशल मीडिया पर इस ऐप का उपयोग अपना घर ढूंढने के लिए कर रहे हैं। लेकिन स्टैंडर्ड गूगल मैैप की तुलना में यह ऐप 75 लाख साल पहले कोई देश पृथ्वी पर किस जगह स्थित था यह दिखाता है। अक्सर हमारे मन में यह सवाल उठता है कि १ लाख साल पहले हमारा देश कि महाद्वीप में था और वे कैसे दिखते थे। 'द एंसिएंट अर्थ' (The Ancient Earth Globe WEebsite) नाम का यह ऐप अपने ग्लोब वेबसाइट सॉफ्टवेयर की मदद से उस समय में ले जाता है जब हमारा देश अपने वर्तमान महाद्वीप या स्थान पर मौजूद नहीं था। तो अगर आप भी जानना चाहते हैं कि आपका देश डायनोसोर युग में किस जगह था, यह दिखने में कैसा था तो यह सॉफ्टवेयर उन सभी क्षेत्रों की वास्तविक स्थिति और संरचना की पहचान करने में मदद करता है।

डिजिटल मैप: गूगल जैसी इस नई ऐप से आप 75 लाख साल पहले अपना पता ढूंढ सकते हैं

महाद्वीपों में बंटने से पहले का समय
जीवाश्म विज्ञानी इयान वेबस्टर का कहना है कि वे इस ने इस सॉफ्टवेयर को बनाया है। इयान के अनुसार वह 'द एंसिएंट अर्थ' सॉफ्टवेयर को देखकर चकित रह गए क्योंकि यह उन्हें उस समय में ले गया जब पृथ्वी 7 महाद्वीपों में बंटी हुई नहीं थी। ऐप का इस्तेमाल कर वे पैलिओजॉइक के बाद और मेज़ोजॉॅइक युग के पहले की पृथ्वी पर अपने देश की लोकेशन को आसानी से ट्रैक कर सकते थे। उन्होंने महाद्वीपों के विभाजन के समय भी अपने देश की भौगोलिक स्थिति को परखा। इयान का कहना है कि सॉफ्टवेयर बनाने वालों ने 75 लाख साल पहले (750 मिलियन) अपने देश और जगह की सही भौगाोलिक स्थिति का पता लगाने के लिए पर्याप्त डेटा एकत्र किया है। लेकिन अपनी जगह की सही स्थिति का पता लगाने के लिए आपको भी मैप पर ननजर आने वाले उस समय के भूखंडों को पहचानना आना जरूरी है। यह मैप तकनीक इसलिए अद्भुत है क्योंकि यह लाखों सालों की हमारी दूरी को उंगली के एक इशारे पर कम कर देती है।

डिजिटल मैप: गूगल जैसी इस नई ऐप से आप 75 लाख साल पहले अपना पता ढूंढ सकते हैं

ऐसे करें नक्शे का उपयोग
अगर आप भी इस एंशिएंट मैप का उपयोग कर जानना चाहते हैं कि लाखों साल पहले आपकी जगह कैसी थी तो हम बता रहे हें कि इस अर्थ ग्लोब सॉफ्टवेयर का उपयोग ऐप का इस्तेमाल कैसे करना है। इसके लिए सबसे पहले आपको डायनोसोरपिक्चर्स डॉट ओआरजी (dinosaurpictures.org) नाम की वेबसाइट के लिंक पर जाएं और आपको एक स्टैंडर्र्ड वल्र्ड मैप नजर आएगा। तब एक सवाल वेबसाइट के ऊपरी हिस्से में पॉप होगा, जिसमें आपसे पूछा जाएगा कि १० लाख साल पहले पृथ्वी कैसी थी और इसमें ससालों की संख्या नजर आएगी। इसके बाद टैब पर पहले अपने शहर औैर फिर अपने देश का नाम लिखें। इसके बाद उन सालों की संख्या चुनें जिस साल अमें आप अपने शहर का नक्शा औैर भौगोलिक स्थिति देखना चाहते हैं। इसके बाद मैप आपको उस जगह पहुंचा देगा।

डिजिटल मैप: गूगल जैसी इस नई ऐप से आप 75 लाख साल पहले अपना पता ढूंढ सकते हैं

दिल्ली से ग्रीनलैंड तक पैदल चलें
यह नक्शा कितना कूल है इसका अंदाजा आपको तब होगा जब यह आपको दिल्ली, मुम्बई या आपके शहर से न्यूयॉर्क या ग्रीनलैंड तक पैदल सफर करवा देगा वो भी घर बैठे-बैठे। हालांकि ऐसा करने के लिए आपको मैप के टाइमफ्रेम (Time Frame) को कम से कम 24 लाख (240 मिलियन) साल पहले की समय सीमा के बाद सेट करना होगा जब पैंजिया (पृथ्वी के महाद्वीपों में बंटने की प्रक्रिया) टूट नहीं रहा था। पृथ्वी पर उस समय अलग-अलग महाद्वीप नहीं थे और इसे भू वैज्ञानिक सुपर महाद्वीप कहते हैं। लेकिन 17.5 लाख साल पहले पृथ्वी की सतह के नीचे प्लेट्स के टूटने और स्थानांतरित होने के कारण आज के सात महाद्वीपों का उदय हुआ।

Show More
Mohmad Imran Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned