Jharkhand: 11वीं के छात्र ने कर दिया कमाल,सब्जी और फल से पैदा कर दी बिजली, मोबाइल होता है चार्ज

झारखंड के चक्रधरपुर में एक छात्र ने दिखा दिया यह कारनामा, सब्जियों और फलों से पैदा कर दी बिजली

By: Pratibha Tripathi

Published: 30 Dec 2020, 09:31 PM IST

नई दिल्ली- हमारे घरों में सब्जी व फलों का उपयोग खाने में किया जाता है, लेकिन यदि कोई कहे कि इन सब्जियों और फलों से बिजली पैदा की जा सकती है, बल्ब जलाने से लेकर मोबाइल तक चार्ज किया जा सकता है, तो इस बात पर यकीन कर पाना मुश्किल होगा। लेकिन झारखंड के चक्रधरपुर में एक छात्र ने यह कारनामा कर दिखाया है।

झारखंड के पश्चिम सिंहभूम जिला के चक्रधरपुर स्थित पोटका गांव में रहने वाले रोबिन साहनी ने यह कारनामा किया है। रोबिन गाजर, खीरा, हरी मिर्च, अमरूद जैसे फल और सब्जियों से बिजली पैदा करते हैं।

रोबिन साहनी की माने तो यह कारनामा कोई जादुई चमत्कार नहीं, बल्कि रसायन और भौतिक विज्ञान के मिश्रण से संभव होता है। रोबिन का कहना है कि सब्जी और फलों में भी बैटरी जैसे गुण होते हैं, इसके लिए भौतिक और रसायन के सिद्धांतों को अपनाया जाता है। इसके लिए कॉपर और जिंक की प्लेट को फलों और सब्जियों के संपर्क में लाकर बिजली पैदा की जाती है। रोबिन ने अभी तक जो भी प्रयोग किया, उनकी प्रयोग विधि को कलमबद्ध कर पूरा दस्तावेज तैयार कर रहे हैं।

रोबिन साहनी ने बिजली पैदा करने की विधि के बारे में बताया कि “गाजर से बिजली तैयार करने के लिए 14 पीस गाजर के और 14-14 पीस कॉपर और जिंक की प्लेट के साथ तांबे की तार को जोड़ कर सीरीज तैयार किया जाता है। जिससे गाजर एक बैटरी के रूप में बदल जाती है। इस प्रक्रिया से 5 वोल्ट की बिजली मिलती है जिससे 3 वोल्ट की एलईडी लाइट आसानी से जलाई जा सकती है, और मोबाइल भी चार्ज किया जा सकता है।“

रोबिन के पिता मजदूरी करके घर चलाते हैं। रोबिन घर से दूर बिहार के दरभंगा में 11वीं की पढ़ाई कर रहे हैं। उनका सपना है साइंटिस्ट बनने का।

Pratibha Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned