पथरीले मंगल ग्रह पर नजर आई हरे रंग की परत, वैज्ञानिकों ने कहा ऑक्सीजन की है संभावना

  • Green Layer Overs Mars : यूरोपीयन स्पेस एजेंसी गैस ऑर्बिटर (TGO) की ओर से ली गई मंगल ग्रह की तस्वीरों में दिखाई दी हरे रंग की परत
  • सूरज की रोशनी के ऑक्सीजन के कणों से टकराने पर निकलती है रंग—बिरंगी रौशनी

By: Soma Roy

Published: 23 Jun 2020, 04:09 PM IST

नई दिल्ली। वैसे तो मंगल ग्रह (Mars Planet) पर जीवन की तलाश में वैज्ञानिक काफी अरसे से जुटे हुए हैं, लेकिन इन दिनों मंगल ग्रह से सामने आई तस्वीरों ने शोधकर्ताओं को उम्मीद की एक नई किरण दी है। दरअसल मंगल ग्रह के चारों ओर एक हरे रंग की परत (Green Layer) दिखाई दे रही है। माना जा रहा है कि ये परत ऑक्सीजन के चलते बना है। इससे ग्रह पर जीवन संभव हो सकेगा। ये खुलासा यूरोपीयन स्पेस एजेंसी गैस ऑर्बिटर (TGO) की ओर से मंगल (Mars) ग्रह की ली गई तस्वीरों से हुआ।

बेल्जियम यूनिवर्सिटी के प्रोफ़ेसर जीन क्लाउड गेरार्ड के अनुसार दूसरे ग्रह से पहली बार जब पृथ्वी की तस्वीर ली गई थी तो इसी तरह का एक हरे और नीले रंग की परत नज़र आई थी। अब मंगल ग्रह पर नजर आई ये हरे रंग की परत जीवन की संभावना को दर्शाती है। ये हरे रंग के गोले मंगल के वातावरण में ऑक्सीजन के होने की ओर इशारा कर रहे हैं। गेरार्ड के अनुसार ये दृश्य नॉर्दन लाइट्स जैसा है। जिस तरह से नॉर्वे और आइसलैंड के आसमान में रात को रंग-बिरंगी रौशनी नजर आती है। वैसा ही नजारा इस वक्त मंगल ग्रह पर भी है।

वैज्ञानिकों के अनुसार जब सूरज की रोशनी ऑक्सीजन के कणों से टकराती है तो इस तरह की रोशनी पैदा होती है। इसके अलावा नाइट्रोजन और ऑक्सीजन के परमाणुओं से सूरज की किरणों से होने वाली टक्कर के कारण हरी-नीली रोशनी पैदा होती है। जो देखने में काफी अच्छे लगते हैं। इससे ग्रह पर रहना भी संभव हो पाता है।

Show More
Soma Roy Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned