धरती पर कचरा फेंक रहें एलियंस, प्रोफेसर ने किया बड़ा खुलासा

  • Aliens on Earth : हावर्ड के प्रोफेसर अवी लोएब ने एलियंस को लेकर बताई चौंकाने वाली बात
  • उनका दावा है कि एलियंस धरती पर स्पेस गारबेज फेंक रहे हैं, उनमें से एक का नाम ओउमुआमुआ है

By: Soma Roy

Published: 04 Jan 2021, 08:30 PM IST

नई दिल्ली। धरती पर एलियंस की मौजूदगी को लेकर हमेशा से ही सवाल उठते रहे हैं। कई बार दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में इसके सबूत भी मिले हैं। मगर आज तक किसी ने असली भी एलियंस को नहीं देखा है। ऐसे में तमाम वैज्ञानिक थ्योरी धरी की धरी रह जाती है। हाल ही में एलियंस को लेकर हार्वर्ड के प्रोफेसर ने भी अनोखा दावा किया है। उनका कहना है कि एलियंस हमारी धरती पर कूड़ा-कचरा फेंक रहे हैं।

हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में एस्ट्रोनॉमी डिपार्टमेंट के प्रोफेसर अवी लोएब (Avi Loeb) का कहना है कि धरती की तरफ आने वाले चमकते पत्थर, एस्टेरॉयड या उल्कापिंड अपने आप नहीं बल्कि एलियंस की ओर से फेंका जाता है। इसे अंतरिक्ष का कचरा यानी स्पेस गार्बेज कहा जाता है। प्रोफेसर ने अपनी किताब एक्स्ट्राटेरेस्ट्रियलः द फर्स्ट साइन ऑफ इंटेलिजेंट लाइफ बेयॉन्ड अर्थ में बताया कि साल 2017 में एलियंस ने अंतरिक्ष का कचरा धरती पर फेंका था। इसे यहां शोध कर रहे वैज्ञानिक चमकीला पत्थर समझ रहे थे। मगर हकीकत में ये एलियंस की ओर से भेजा गया था। इसने हमारे सौर मंडल की यात्रा भी की है।

प्रोफेसर ने बताया कि अंतरिक्ष से आई इस वस्तु का नाम ओउमुआमुआ (Oumuamua) है। यह 300 फीट लंबी पत्थर जैसी दिखने वाली वस्तु है। यह काफी नुकीला और अलग किस्म का था। यह पहला ऐसा स्पेस टूरिस्ट था दूसरी दुनिया से आकर हमारे सौरमंडल में चक्कर लगाकर वापस चला गया हो। रिसर्च में पता चला कि इस पत्थर पर सूरज की गुरुत्वाकर्षण शक्ति भी काम नहीं कर पाई। यह अपनी चौड़ाई से दस गुना ज्यादा लंबा था और दूसरे उल्कापिंडों से बिल्कुल अलग दिखाई दे रहा था। यह हमारे सौर मंडल में दिखने वाले एस्टेरॉयड्स या उल्कापिंडों से दस गुना ज्यादा रोशनी परावर्तित कर रहा था।

Show More
Soma Roy Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned