भारतीय वैज्ञानिकों ने आकाशगंगा में खोजे 28 नए सितारे, सुलझेंगे कई रहस्य

भारतीय वैज्ञानिकों ने आकाशगंगा में खोजे 28 नए सितारे, सुलझेंगे कई रहस्य

Deepika Sharma | Updated: 28 Jul 2019, 01:15:44 PM (IST) विज्ञान और तकनीक

  • Scientist reaearch: वैज्ञानिकों को मिले नए सितारे,जो बदलते हैं अपनी चमक
  • तारों के गोलाकार गुच्छों की रचना से मिलेगी अकाशगंगा के अनसुलझे रहस्यों की जानकारी

नई दिल्ली। आर्यभट्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ ऑब्जर्वेशनल साइंस ( Aryabhatta Research Institute of Observational Science ) के वैज्ञानिकों ( scientist ) ने आकाशगंगा ( Galaxy ) में 28 नए परिवर्तनशील तारों की खोज की है।

एआरआईईएस के निर्देशक वहाबउद्दीन ने इन नए परिवर्तनशील सितारों की खोज को एक "दुर्लभ उपलब्धि" बताया है। इसके साथ ही यह भी बताया कि इन सितारोें की चमक अकाशगंगा में बदलती रहती है।

 

glaxy

इस बारें में एआरआईईएस संस्थान के पूर्व निर्देशक और वर्तमान वरिष्ठ वैज्ञानिक अनिल पांडेय के अनुसार, ‘कोमा बेरेनाइसीस’नक्षत्र में ग्लोबुलर क्लस्टर (तारों के झुंड) 'NGC 4147' से इन सितारों ( stars ) की पहचान की गई है।

मीडिया एजेंसी ( media agency ) की रिपोर्ट के अनुसार, पांडेय ने बताया कि इस महत्वपूर्ण खोज से तारों के गोलाकार गुच्छों की रचना के बारे में भविष्य ( future ) की जानकारी से मदद मिलेगी साथ ही आकाशगंगा के और कई अनसुलझे रहस्य जान पाएंगे।

उन्होंने बताया कि नए परिवर्तनशील तारों की खोज के अलावा, अध्ययन से ‘एनजीसी 4147’ की आंतरिक संरचना के बारे में महत्वपूर्ण जानकारियां प्राप्त होती हैं। यह तारागुच्छ पृथ्वी से पहले जितना सोचा गया था उससे ज्यादा पास स्थित हैं।

 

glaxy

इस खोज को डॉ. स्नेहलता, डॉ. एके पांडेय और उनकी अनुसंधान टीम ने 2016 में नैनीताल के पास स्थापित 3.6 मीटर देवस्थल ऑप्टिकल टेलीस्कोप यानी दूरबीन की मदद से गोलाकार क्लस्टर एनजीसी 4147 की फोटोमेट्रिक से पता लगाया। जिसमें आकाशगंगा में तारों के समूह में तारे परिवर्तनशील होने के अलावा अपनी चमक भी बदलते रहते हैं।

वैज्ञानिकों का कहना है कि ऐसा लगता है कि आकाशगंगा में इन गोलाकार समूहों की सबसे पुरानी आबादी है। उनकी उत्पत्ति और आकाशगंगा विकास में इनकी भूमिका अभी स्पष्ट नहीं हुई है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned