Microsoft ने एंड्रायड के लिए आउटलुक एड-इन किया लांच

Microsoft कंपनी आउटलुक के लिए भी नए एड इन लांच करेगी

By: जमील खान

Published: 11 Sep 2017, 10:04 PM IST

सैन फ्रांसिस्को। आईओएस पर आउटलुक के लिए एड-ऑन्स लांच करने के बाद माइक्रोसॉफ्ट अब एंड्रायड उपभोक्ताओं के लिए आउटलुक डॉट और ऑफिस 365 वाणिज्यिक ईमेल खातों की सुविधा लांच कर रही है. एनगैजेट की सोमवार की रिपोर्ट में कहा गया, इस लांच के साथ हम आईओएस से एंड्रायड तक कई एड इन्स लेकर आए हैं, जिनमें एवरनोट, माइक्रोसॉफ्ट डायनेमिक्स 365, माइक्रोसॉफ्ट ट्रांसलेटर, निंबल, वन प्लेस मेल, आउटलुक कस्मटम मैनेजर, स्मार्टशील और ट्रेललो प्रमुख हैं।

कंपनी आउटलुक के लिए भी नए एड इन लांच करेगी, जिसमें राइक, जेआईआरए, मेस्टरटॉस्क, जीएफवाईसीएटी और मोजीलाला शामिल है, जो वेब विंडोज, मैक, आईओएस और एंड्रायड प्लेटफाम्र्स के लिए उपलब्ध होंगे। इस रिपोर्ट में कहा गया, राइक, जेआईआरए और मेस्टरटॉस्क ऐसे सॉफ्टवेयर हैं, जो ईमेल और तेज और आसान बनाता है। इसे सक्रिय करने के लिए यूजर्स को आउटलुक सेटिंग में जाकर एड-इन्स पर क्लिक करने के बाद प्सल साइन पर टैप करना ताकि यह एप में जुड़ जाए।


फेसबुक ने गूगल और माइक्रोसॉफ्ट को इस मामले में पीछे छोड़ा
सैन फ्रांसिस्को/सियोल। वैश्विक सोशल नेटवर्क दिग्गज फेसबुक ने प्रति कर्मचारी लाभ के मामले में दिग्गज इंटरनेट कंपनी गूगल की मातृ कंपनी अल्फाबेट और दिग्गज सॉफ्टवेयर कंपनी माइक्रोसॉफ्ट को पछाड़ दिया है। वहीं फेसबुक की सबसे बड़ी प्रतिद्वंद्वी ट्विटर को भारी नुकसान सहना पड़ा है। मौजूदा वर्ष की दूसरी तिमाही में फेसबुक के कर्मचारियों की संख्या 20,658 रही, जो बीते वर्ष इसी अवधि की तुलना में 43 फीसदी अधिक है। फेसबुक ने बीती तिमाही में प्रति कर्मचारी 188,498 डॉलर का लाभ कमाया।

वहीं समीक्षाधीन अवधि में माइक्रोसॉफ्ट ने 52,400 डॉलर प्रति कर्मचारी और अल्फाबेट ने 46,610 डॉलर प्रति कर्मचारी का लाभ कमाया। इस तरह माइक्रोसॉफ्ट और अल्फाबेट प्रति कर्मचारी लाभ के मामले में फेसबुक का एक चौथाई रहे। इसी अवधि में वेरीजोन ने 27,405 डॉलर, एटी एंड टी ने 15,410 डॉलर और फोर्ड ने 10,098 डॉलर प्रति कर्मचारी का लाभ हासिल किया।

वहीं ट्विटर को बीती तिमाही में 11.6 करोड़ डॉलर का नुकसान हुआ है, जिसके अनुसार ट्विटर को 36,000 डॉलर प्रति कर्मचारी का नुकसान हुआ है। फेसबुक को हुए जबरदस्त लाभ का सबसे बड़ा कारण यह है कि सॉफ्टवेयर के उत्पादन एवं वितरण में मानव संसाधन की जरूरत नहीं होती।

 

जमील खान
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned