चंद्रमिशन के लिए निजी कंपनी का यान प्रयोग करेगा नासा

अमरीकी अंतरिक्ष एजेंसी नेशनल एयरोनॉटिक्स एण्ड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (नासा) अपने अगले चंद्र मिशन के लिए पहली बार निजी कंपनियों का सहयोग लेगी। नासा ने हाल ही इन निजी कंपनियों के नामों की सूची जारी की है जो अगले चंद्रमिशन पर तकनीकी सहयोग के लिए बोली लगाएंगी। इन नौ कंपनियों में जहां एयरोस्पेस उद्योग का बड़ा नाम लॉकहीड मार्टिन शामिल है वहीं स्टार्ट-अप के तहत उभरी पिट्सबर्ग स्थित एस्ट्रोबोटिक और कैलिफोर्निया की मास्टेन स्पेस सिस्टम्स प्रमुख है। नासा प्रबंधक जिम ब्राइडेंसटाइन का कहना है कि व्यवसायिक चं

46 साल बाद कोशिश

1972 के अपोलो मिशन के बाद कोई अमरीकी अंतरिक्ष यान चंद्रमा पर नहीं उतरा है। नासा के पिछले रोबोटिक मिशन को भी चांद पर गए 50 साल बीत गए हैं। नासा की ओर से व्यवसायिक चंद्रयान प्रक्षेपण कार्यक्रम की घोषणा ऐसे समय हुई है जब उसके दो प्रमुख भागीदार एलन मस्क की स्पेसएक्स और बोइंग के साथ हुए अनुबंध में लगातार देर हो रही है। दोनों को अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन तक अंतरिक्ष यात्रियों को ले जाने के लिए अनुबंधित किया गया है।

चंद्रमिशन के लिए निजी कंपनी का यान प्रयोग करेगा नासा

मिशन के बारे में ख़ास ख़ास

नासा प्रबंधक जिम ब्राइडेंसटाइन का कहना है कि निजी कंपनियों की भागीदारी सस्ते और ज्यादा चंद्र अभियानों की गारंटी देते हैं। अंतरिक्ष के बारे में पहले से ज्यादा जानकारी मिलेगी। साथ ही सार्वजनिक एवं निजी भागीदारी की परिपाटी की शुरुआत होगी।

-50 साल बीत गए हैं नासा के पिछले रोबोटिक मिशन को चांद पर गए बीत गए हैं।
-46 साल पहले अपोलो मिशन के बाद से कोई अमरीकी यान चंद्रमा पर नहीं उतरा
-10 सालों तक प्रतिवर्ष दो अंतरिक्ष यात्री और जरूरी सामान भेजेगा नासा

चंद्रमिशन के लिए निजी कंपनी का यान प्रयोग करेगा नासा
Mohmad Imran Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned